शुक्रवार, अगस्त 19, 2022
Advertisement
होमIndia News'बड़े भारी मन से…' एकनाथ शिंदे को CM बनाने के फैसले पर...

‘बड़े भारी मन से…’ एकनाथ शिंदे को CM बनाने के फैसले पर जानिए क्या बोले महाराष्ट्र बीजेपी के अध्यक्ष

मुंबई। एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) को महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री (Maharashtra Chief Minister) बनाए जाने पर प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल (Chandrakant Patil) का बयान सामने आया है। बीजेपी महाराष्ट्र इकाई के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल (Maharashtra BJP chief Chandrakant Patil) ने शनिवार को कहा कि बीजेपी ने देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) के बजाए शिवसेना (ShivSean) के बागी नेता एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) को ‘भारी मन’ से राज्य का मुख्यमंत्री (Chief Minister Of Maharashtra) बनाने का निर्णय लिया था। पनवेल में बीजेपी की राज्य कार्यकारी समिति की बैठक के दौरान पाटिल ने कहा कि सही संदेश देने के लिए यह फैसला लिया गया था। महाराष्ट्र विधानसभा में सबसे बड़े दल बीजेपी ने 30 जून को शिंदे को मुख्यमंत्री बनाने की घोषणा कर सभी को चौंका दिया था। पाटिल ने कहा, ‘हमें एक ऐसा नेता देने की आवश्यकता थी, जो सही संदेश दे और स्थिरता सुनिश्चित करे। केंद्रीय नेतृत्व और देवेंद्र फडणवीस ने भारी मन से शिंदे को बतौर मुख्यमंत्री समर्थन देने का फैसला लिया। हम नाखुश थे लेकिन फैसले को स्वीकार करने का निर्णय किया।’ इस बीच, पाटिल की टिप्पणी से जुड़े सवाल पर प्रदेश बीजेपी नेता आशीष शेलार ने संवाददाताओं से कहा कि यह पार्टी या पाटिल का रुख नहीं है, बल्कि वह पार्टी कार्यकर्ताओं की भावनाओं का जिक्र कर रहे थे।

महाराष्ट्र की राजनीति में हुआ क्या था?

एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में 40 विधायकों ने शिवसेना से बगावत कर ली थी और गुजरात और असम चले गए थे। जब उद्धव के पास कम विधायक बचे तो उनकी सरकार गिर गई। इसके बाद लोगों के बीच में चर्चा थी कि फडणवीस सीएम बनेंगे, लेकिन फिर कमान एकनाथ शिंदे को दे दी गई। पहले फडणवीस ने कहा था कि वह इस सरकार में बाहर से रहेंगे। हालांकि बाद में बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने घोषणा करते हुए कहा कि फडणवीस डिप्टी सीएम के रूप में शपथ लेंगे।

आदित्य ठाकरे का दावा- जल्द गिर जाएगी शिंदे सरकार

शिवसेना नेता और महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री आदित्य ठाकरे का दावा है कि राज्य में मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली सरकार संवैधानिक नहीं है और ये बहुत जल्द गिर जाएगी। उन्होंने ये भी कहा कि राज्य में बाढ़ के हालात हैं और शिंदे सरकार पार्टी के विस्तार में है। आदित्य ने ये भी कहा कि अगर बागी विधायक चाहते हैं तो वह हमारे पास वापस आ सकते हैं।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments