सोमवार, अक्टूबर 3, 2022
Advertisement
होमIndia NewsWeather News : बारिश-बाढ़ के चलते देश के कई राज्यों में बिगड़े...

Weather News : बारिश-बाढ़ के चलते देश के कई राज्यों में बिगड़े हालात : 31 लोगों की मौत

नई दिल्ली। देश के कई राज्यों में हो रही बारिश से जनजीवन पूरी तरह से बेहाल हैं। भारी बारिश, भूस्खलन और बाढ़ के कारण शनिवार को हिमाचल प्रदेश, झारखंड, ओडिशा और उत्तराखंड सहित कई राज्यों में 31 लोगों की मौत हो गई। जिनमें से 22 अकेले हिमाचल प्रदेश के हैं। उत्तराखंड सहित कई राज्यों में बाढ़ में फंसे लोगों को बचाने का कार्य जारी है। वहीं छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश में लगातार 24 घंटों से बारिश हो रही है। भारी बारिश से नदी, नाले उफान पर हैं। मध्यप्रदेश में रेड अलर्ट जारी किया गया है, वहीं उत्तराखंड में बाढ़ में फंसे टूरिस्ट्स के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन चलाना पड़ा। मौसम विभाग ने अनुमान जताया है कि सोमवार तक यह सिस्टम कमजोर पड़ सकता है और बारिश से राहत मिल सकती है। वहीं मौसम विभाग ने रविवार को पश्चिम मध्य प्रदेश में और सोमवार को पूर्वी राजस्थान में अत्यधिक भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।

हिमाचल में लैंडस्लाइड और बादल फटने की 36 घटनाएं, 22 की मौत

हिमाचल प्रदेश में बाढ़ के चलते मौसम संबंधी 36 घटनाएं हो चुकी है। जिनमें अब तक एक परिवार के आठ सदस्यों सहित 22 लोगों की मौत हो गई। इसमें दस लोग घायल है, जबकि 6 लापता हैं। हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा में चक्की पुल शनिवार को भारी बारिश के कारण गिर गया, जिससे पठानकोट और जोगिंदरनगर के बीच ट्रेन सेवा बाधित हो गई। मौसम विज्ञान विभाग ने अगले 12 घंटों के लिए हिमाचल प्रदेश में ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। लोगों को नदियों और नालों के पास नहीं जाने की सलाह दी है। बता दें कि राज्य आपदा प्रबंधन विभाग ने 25 अगस्त तक भूस्खलन की चेतावनी जारी की थी।

एमपी में आधी रात तवा डैम के गेट खोलने पड़े

मध्यप्रदेश में बारिश का सिस्टम फिर से एक्टिव हो गया है। भोपाल, नर्मदापुरम, विदिशा, छिंदवाड़ा और रायसेन समेत प्रदेश के कई हिस्सों में तेज बारिश हो रही है। तवा का जलस्तर बढ़ने पर 5 गेट रात 11 बजे से खोले दिए गए। वहीं नर्मदा पर बने बरगी डैम के 11 गेट आधा मीटर तक खोले गए हैं।

राजस्थान : आज से 4 दिन भारी बारिश का अलर्ट

प्रदेश में दो दिन की सुस्ती के बाद रविवार से एक बार फिर मानसून सक्रिय होने के साथ ही दक्षिणी और पूर्वी राजस्थान में चार दिन तक भारी बारिश का दौर शुरू होने जा रहा है। वहीं प्रदेश में बीते चौबीस घंटे में धौलपुर में तीन इंच से अधिक बारिश वहीं पूर्वी राजस्थान के कई इलाकों में भी हल्की बारिश दर्ज की गई है। शनिवार को जयपुर में पूरे दिन बादलों की आवाजाही के बीच उमस से लोग परेशान हुए। मौसम विभाग के अनुसार, झारखंड, सीमावर्ती ओडिशा व पश्चिम बंगाल के ऊपर बने अति दबाव के क्षेत्र के कारण राजस्थागन में अगले चार दिन तक राजस्थान के अनेक जिलों में भारी से अति भारी बारिश होने का अनुमान है। इधर, जयपुर के प्रमुख पेयजल स्त्रोत टोंक के बीसलपुर बांध में शनिवार को भी पानी की आवक से गेज रात तक 312.82 आरएल मीटर दर्ज किया गया है। बांध में अब कुल भराव क्षमता का 56 फीसदी से अधिक पानी आ चुका है।

यूपी के प्रयागराज में गंगा-यमुना का पानी रिहायशी इलाकों में घुसा

उत्तर प्रदेश में मानसून अपने एक्टिव मोड में है। शनिवार को यूपी के अधिकांश इलाकों में जमकर बरसात हुई। देर शाम लखनऊ और कानपुर में करीब 1 घंटे तक बारिश हुई। इससे कानपुर के मोती झील, विजय नगर, शास्त्री नगर समेत कई इलाकों में जलभराव हो गया है। बीते 24 घंटे में औसतन 12.4 मिलीमीटर बारिश हुई। इधर, मौसम विभाग ने अगले 23 अगस्त तक अनुमान से तीन गुना बारिश होने की संभावना जताई है। विभाग ने रविवार को 42 जिलों में बारिश का अलर्ट जारी किया है। इसमें 26 जिलों में येलो अलर्ट और 16 जिलों में रेड अलर्ट है। रेड अलर्ट वाले जिलों में 70 किलोमीटर प्रति घंटे और येलो अलर्ट वाले जिलों में 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने की संभावना जताई है।

उत्तराखंड : बाढ़ के कारण टूरिस्ट फंसे

देहरादून में शनिवार तड़के हुए कई बादल फटने से चार लोगों की मौत हो गई, जबकि 10 लापता हो गए। भारी बारिश के चलते नदियां उफान पर है। नदियों पर बने कई पुल बह गए है। वहीं उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल के मोहनचट्टी में अरण्यम रिजॉर्ट में कुछ लोग फंस गए थे। इन लोगों से सभी संपर्क टूट गए थे। सूचना मिलने पर एसडीआरएफ टीम रेस्क्यू मौके पर पहुंची। SDRF प्रवक्ता के मुताबिक, बचाव कार्य जारी है। उधर ऋषिकेश में भी भारी वर्षा के कारण गंगा नदी का जल स्तर बढ़ गया है।

ओडिशा: 70 लोगों को लेकर जा रही नाव नदी में पलटी

ओडिशा के उत्तरी हिस्से में शुक्रवार रात भारी बारिश होने के कारण कई नदियों के उफनाने से बाढ़ का खतरा पैदा हो गया है। वहीं, प्राकृतिक आपदा के चलते चार लोगों की मौत हो चुकी है। राज्य पहले ही बाढ़ की मार झेल रहा है, जहां 500 गांवों में लगभग 4 लाख लोग फंसे हुए हैं। वहीं महानदी नदी में आई बाढ़ में 70 यात्रियों को ले जा रही एक नाव पानी में बह गई। ओडिशा फायर सर्विसेस ने रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया। महाकालपाड़ा के समुद्री पुलिस अधिकारी ने बताया कि हालांकि यह जोखिम भरा था, लेकिन हमने सभी 70 लोगों को बचा लिया।

जम्मू-कश्मीर: वैष्णो देवी यात्रा शुरू, कई नदियों में आई बाढ़

राज्य में भारी बारिश के कारण त्रिकुटा पहाड़ियों पर स्थित प्रसिद्ध माता वैष्णो देवी मंदिर की यात्रा रविवार सुबह फिर से शुरू हो गई। यात्रा भारी बारिश के बाद रातभर अस्थायी रूप से स्थगित रही थी। खराब मौसम के कारण हेलीकॉप्टर सेवा भी निलंबित रही। सोशल मीडिया पर शेयर किए गए कई वीडियो में वैष्णो देवी ट्रैक पर बाढ़ जैसे हालात दिखाई दे रहे हैं।

झारखंड में बारिश से जुड़े अलग-अलग हादसों में 7 की मौत

झारखंड में पश्चिमी सिंहभूम, सरायकेला-खरसावां और पूर्वी सिंहभूम जिलों सहित कोल्हान में कई नदियों का जलस्तर खतरे के निशान पर पहुंच गया है। राज्य में तीन लोगों की मौत हो गई है, निचले इलाकों में पानी भर गया और पेड़ और बिजली के खंभे उखड़ गए। सिंहभूम में एक महिला और रामगढ़ में दो लोगों की डूबने से मौत हो गई, जबकि कुछ लोग लापता हैं। नलकारी नदी में एक गाड़ी डूबने से चार लोगों की मौत हो गई।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments