रविवार, नवम्बर 27, 2022
Advertisement
होमIndia Newsतमिलनाडु में छात्रा की मौत के बाद बवाल, प्रदर्शनकारियों ने बसों में...

तमिलनाडु में छात्रा की मौत के बाद बवाल, प्रदर्शनकारियों ने बसों में लगाई आग, स्कूल में की तोड़फोड़

चेन्नई। तमिलनाडु के कल्लाकुरिची जिले में 12वीं की छात्रा की मौत मामले में रविवार को जमकर हिंसा भड़की। छात्रा की मौत से नाराज लोग बड़ी संख्या में सड़क पर उतर आए और स्कूल तोड़फोड़ की। प्रदर्शनकारियों ने एक स्कूल में जाकर वहां खड़ी बसों में आग लगा दी और स्कूल की संपत्ति में तोड़फोड़ की। इसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज किया और भीड़ को तितर-बितर किया। यह सभी छात्रा की मौत पर न्याय की मांग कर रहे थे। फिलहाल, जिले में धारा 144 लागू कर दी गई है।

पुलिस ने बताया, छात्रा की मौत के बाद कई लोग स्कूल में घुस आए, जिन्हें रोकने की कोशिश की गई। हालांकि, बाद में बड़ी संख्या में लोग इकट्ठे हो गए और उग्र प्रदर्शन किया। राज्य के डीजीपी सी शैलेंद्र बाबू ने बताया कि भीड़ को रोकने के लिए लाठी चार्ज करना पड़ा। पूरे इलाके में 500 से ज्यादा पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया है। उन्होंने बताया, पहले सभी शांति पूर्वक प्रदर्शन कर रहे थे, लेकिन बाद में उन्होंने हमला करना शुरू कर दिया। दरअसल, कल्लाकुरिची में चिन्ना सलेम में एक प्राइवेट स्कूल की 12वीं कक्षा की छात्रा श्रीमथी ने 12 जुलाई की रात हॉस्टल के टॉप फ्लोर से कूद कर आत्महत्या कर ली। 13 जुलाई की सुबह जब चौकीदार ने लड़की का शव देखा, तो स्कूल प्रबंधन और पुलिस को सूचना दी। लड़की को पास के अस्पताल ले जाया गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया।

छात्रा ने सुसाइड नोट में दो टीचर्स पर लगाया आरोप

पुलिस को मिले सुसाइड नोट में लड़की ने स्कूल के दो टीचर्स पर उसे और कुछ छात्रों को हर समय पढ़ने के लिए मजबूर करके प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है। साथ ही लिखा है कि लड़की को इन टीचरों ने डांटा भी था और दूसरे टीचरों को भी घटना के बारे में पता था। पुलिस ने बताया कि जब लड़की के सुसाइड के बारे में परिवारवालों को बताया तो उन्होंने अस्पताल पहुंचकर प्रदर्शन शुरू कर दिया। उन्होंने छात्रा के लिए न्याय की मांग करते हुए कल्लाकुरिची-सलेम हाइवे जाम कर दिया और आरोपी टीचर्स और टीचर्स पर कार्रवाई की मांग की। इसके बाद पुलिस ने धारा 174 (अप्राकृतिक मौत) के तहत मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस ने बताया कि दोनों टीचर्स से पूछताछ में पता चला कि उन्होंने सभी बच्चों को कड़ी मेहनत करने के लिए कहा था, क्योंकि सभी पढ़ाई के प्रति लापरवाह थे। वहीं, पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में बताया गया है कि छात्रा की मौत हेमरेज, शॉक और मल्टीपल इंजरीस के कारण हुई है। माता-पिता ने विसरा और दोबारा पोस्टमॉर्टम के लिए हाईकोर्ट में अर्जी दी है।

सीएम स्टालिन ने किया शांति बनाए रखने का अनुरोध

कल्लाकुरिची हिंसा पर तमिलनाडु के सीएम एमके स्टालिन ने ट्वीट किया, ‘हिंसा मुझे चिंतित करती है। आरोपी को दंडित किया जाएगा जब छात्रा की मौत पर पुलिस जांच समाप्त हो जाएगी। मैंने डीजीपी, गृह सचिव को कल्लाकुरिची की यात्रा करने के लिए कहा है। मैं लोगों से शांति बनाए रखने का अनुरोध करता हूं।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments