रविवार, नवम्बर 27, 2022
Advertisement
होमCrime Newsपबजी खेलने से रोका तो बेटे ने की मां की हत्या, पुलिस...

पबजी खेलने से रोका तो बेटे ने की मां की हत्या, पुलिस को सुनाई कत्ल की फर्जी कहानी

लखनऊ। पबजी खेलने की लत कितनी बुरी होती है। इसका ताजा उदाहरण हाल ही में यूपी के लखनऊ में सामने आया है। जहां एक नाबालिग लड़के ने अपनी मां की इसलिए गोली मारकर हत्या कर दी क्योंकि वो उसे पबजी गेम खेलने से रोकती थी। पुलिस के मुताबिक, पबजी ना खेलने देने से नाराज 16 साल के बेटे ने अपनी मां की गोली मारकर हत्या कर दी। इतना ही नहीं इसके बाद 10 साल की बहन को भी धमकाकर घर से बाहर जाने से रोके रखा। मां के शव के साथ तीन दिन घर में रहा। शव सड़ने से बदबू फैली तो सेना में अधिकारी पिता को खुद फोन करके बताया कि मां की हत्या कर दी है। पिता की जानकारी पर मंगलवार रात पुलिस ने शव को घर से बाहर निकाला।


वाराणसी के रहने वाले नवीन कुमार सिंह सेना में जूनियर कमीशन्ड ऑफिसर हैं। उनकी पोस्टिंग पश्चिम बंगाल में है। लखनऊ के पीजीआई इलाके में यमुनापुरम कॉलोनी में उनका मकान है। यहां उनकी पत्नी साधना (40 साल) अपने 16 साल के बेटे और 10 साल की बेटी के साथ रहती थीं। बेटे ने मंगलवार रात अपने पिता नवीन को वीडियो कॉल करके बताया कि उसने मां की हत्या कर दी है। उसने पिता को शव भी दिखाया। नवीन ने एक रिश्तेदार को फोन करके तत्काल अपने घर भेजा। पुलिस पहुंची तो घर के अंदर के हालात देखकर दंग रह गई।

यह भी पढ़े :-कानपुर हिंसा: शहर काजी ने दिया भड़काऊ बयान, कानपुर में बुलडोजर चला तो कफन बांधेंगे…


मां की लाश के साथ सोती रही मासूम

पुलिस ने मंगलवार देर रात बाहर का गेट खोला तो घर के अंदर से बदबू आ रही थी। पुलिस वाले मकान के भीतर दाखिल हुए तो बेड पर साधना की सड़ी हुई लाश पड़ी थी। उसी कमरे में सिसकियां लेती साधना की 10 साल की बेटी भी थी। पुलिस ने दावा किया है कि बेटे ने बहन के सामने मां को गोली मारी। इससे वो इतनी दहशत में आ गई कि भाई के कहने पर मां की लाश के साथ ही सोती रही।

पुलिस का दावा- गेम खेलने से रोका तो कर दी हत्या

एडीसीपी काशिम आब्दी के मुताबिक, बेटा मोबाइल पर गेम खेलने का आदी था, लेकिन साधना उसे गेम खेलने से रोकती थीं। शनिवार की रात भी उन्होंने बेटे को गेम खेलने से मना किया। बेटा इससे नाराज हो गया। रात करीब 2 बजे जब साधना गहरी नींद में थीं, उसने अलमारी से पिता की बंदूक निकाली और मां की हत्या कर दी। इसके बाद बहन को डरा-धमकाकर उसी कमरे में बंद कर दिया।


पुलिस को करता रहा गुमराह, बाद में कबूल किया

पुलिस की शुरूआत की पूछताछ में बेटे से घटना के बारे में जानकारी ली गई तो उसने पहले गुमराह करना शुरू किया। बताया कि बिजली मिस्त्री घर आया था। उसी ने मां की हत्या कर दी है, लेकिन कड़ी पूछताछ के बाद पूरी कहानी सामने आ गई। बेटे ने हत्या की बात स्वीकार कर ली।

पुलिस का कहना है कि बेटे को मां की किसी आदत से बेहद नफरत थी। इसकी उसने पापा से कई बार शिकायत की। बावजूद इसके मां की हरकत में बदलाव नहीं आया। इसी हरकत से तंग आकर एक साल पहले वो घर छोड़कर भाग गया था। वह हरकत क्या थी, इस पर पुलिस ने हालांकि कोई बात नहीं बताई है। फिलहाल पुलिस अधिकारी ने कहा, हमने लड़के को हिरासत में लेकर 10 साल की बेटी को नवीन के भाई के सुपुर्द कर दिया है। गौरतलब है कि मार्च में इसी तरह की एक घटना में, मुंबई से आई थी। जहां ठाणे के निवासी को तीन दोस्तों ने कथित तौर पर पबजी गेम खेलने के दौरान दुश्मनी को लेकर चाकू मारकर हत्या कर दी थी। पुलिस ने इस मामले में एक आरोपी समेत दो नाबालिगों को गिरफ्तार कर लिया है।

यह भी पढ़े :- गुप्ता ब्रदर्स दुबई में गिरफ्तार, जानिए-यूपी के रहने वाले भाईयों ने कैसे किया अरबों रुपये का घोटाला

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments