शुक्रवार, दिसम्बर 2, 2022
Advertisement
होमWorld Hindi NewsUN Warning On Climate Change : भीषण गर्मी तप से रही आधी...

UN Warning On Climate Change : भीषण गर्मी तप से रही आधी दुनिया: UN की चेतावनी- ‘खतरे में आधी मानवता’, जानिए इन देशों का हाल

नई दिल्ली। दुनिया में ज्यादातर हिस्से इस समय मौसम की मार झेल रहे हैं। अमेरिका, यूरोप और चीन में तो भीषण गर्मी कहर बनकर लोगों पर टूट रही है। गर्मी की बड़ी वजह जंगलों की आग भी है। फ्रांस, स्पेन, पुर्तगाल समेत करीब 10 देशों में जंगल जल रहे हैं। वहीं ब्रिटेन को हीटवेव ने झकझोर दिया है। मौसम अधिकारियों ने पूर्वानुमान जताया है कि देश में पहली बार गर्मी के रिकॉर्ड टूटने की आशंका है। देश में गर्मी के सारे रिकॉर्ड टूट सकते हैं। स्वास्थ्य अधिकारियों ने आशंका जताई है कि गर्मी से लोगों के बीमार होने और मरने तक की आशंका है। इस कारण अधिकारियों ने राष्ट्रीय आपदा घोषित कर दी है।

यूएन में एक्सट्रीम वेदर को लेकर संयुक्त राष्ट्र ने चिंता जताई है। संगठन के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने कहा कि जंगल की आग और हीट वेव के चलते आधी मानवता ही सामूहिक आत्महत्या के मुहाने पर पहुंच गई है। गुटेरेस ने जलवायु संकट पर 40 देशों की बैठक के मंत्रियों से कहा, बाढ़, सूखा, अत्यधिक तूफान और जंगल की आग से आधी मानवता खतरे में है। कोई भी देश इसका सामना नहीं कर पा रहा है। फिर भी हम जीवाश्म ईंधन की लत को छोड़ नहीं रहे हैं।

ब्रिटेन को लेकर कहा ज रहा है कि वहां सहारा रेगिस्तान से भी ज्यादा गरम है। गर्मी के कारण वहां के लोगों को घर से ही काम करने के लिए कहा गया है। मौसम विभाग ने कहा है कि देश में पहली बार पारा 40 डिग्री सेल्सियस के पार जा सकता है। अगर ऐसा हुआ तो यह पहली बार होगा। अत्यधिक तापमान का पिछला रिकॉर्ड 38.7 डिग्री है जो 2019 में बना था। गर्मी से नॉटिंघमशायर, हैम्पशायर और ऑक्सफोर्डशायर में स्कूल बंद कर दिए गए हैं।

स्पेन में 36 जगहों पर जंगल की आग धधक रही है। 22 हजार हेक्टेयर जंगल जल चुका है। दक्षिण-पश्चिमी स्पेन में पारा 44 डिग्री सेल्सियस से ऊपर और देश के बाकी हिस्सों में 40 डिग्री तक जा चुका है। देश में अब तक 20 आग को काबू किया जा चुका है।

वहीं पुर्तगाल के उत्तर में लगी जंगल की आग से दो लोगों की मौत हो चुकी है। 12,000 एकड़ से ज्यादा इलाके को प्रभावित किया है। पुर्तगाल में एक हफ्ते में पारा 47 डिग्री का शिखर छू चुका है, जो जुलाई में नया रिकॉर्ड है।

चीन के शंघाई समेत कई शहर भीषण गर्मी की मार झेल रहे हैं। गर्मी से बचने के लिए लोग अंडरग्राउंड शेल्टर्स में जा रहे हैं। शंघाई समेत 68 शहरों में रेड अलर्ट जारी कर दिया है। शंघाई के 2.5 करोड़ लोगों को हीटवेव के प्रति सचेत किया गया है।

अमेरिका में 5.58 करोड़ लोग यानी करीब 17% आबादी गर्मी की चपेट में है। मौसम विभाग के मुताबिक, इस हफ्ते की मध्य तक दक्षिण, पश्चिम और मिडवेस्ट में खतरनाक स्तर की गर्मी का अनुमान है। आगे स्थिति और खराब हो जाएगी। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन देश में क्लाइमेट इमरजेंसी लगाने पर विचार कर रहे हैं।

फ्रांस में एक हफ्ते से फ्रांस के दक्षिण-पश्चिमी हर बोर्डे के नजदीक जंगलों में आग लगी है। 14,000 से ज्यादा लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया। पारा 33 डिग्री पार हो चुका है। आगे नए रिकॉर्ड बनेंगे।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments