गुरूवार, दिसम्बर 1, 2022
Advertisement
होमIndia NewsUdaipur Murder Case: हत्यारों को पकड़ने में इन 2 दोस्तों की रही...

Udaipur Murder Case: हत्यारों को पकड़ने में इन 2 दोस्तों की रही अहम भूमिका, दोनों ने 30 KM तक किया पीछा

राजसमंद। राजस्थान के उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल (Udaipur Tailor Kanhaiya Lal Murder Case) की हत्या के मामले में रोज नए-नए खुलासे हो रहे हैं। उदयपुर में 28 जून 2022 को आतंकियों द्वारा की गई टेलर कन्हैयालाल की हत्या (Tailor Kanhaiya Lal Murder) के हत्यारों रियाज और गौस (Ghaus Mohammad And Riyaz Jabbar) को राजस्थान पुलिस ने महज 5 घंटे में गिरफ्तार कर लिया था। कन्हैयालाल का गला रेतने के बाद फरार हुए रियाज और गौस पकड़ने में दो लोगों की अहम भूमिका रही, जिन्होंने 30 किलोमीटर तक हत्यारों का पीछा किया। राजसमंद जिले के रहने वाले शक्ति और प्रह्लाद इस केस में ‘हीरो’ के रूप में सामने आए हैं, जिनकी खूब तारीफ हो रही है। खुद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दोनों से मुलाकात करके उन्हें शाबाशी दी है।

राजसमंद में लासानी के पास ताल गांव के रहने वाले शक्ति सिंह और प्रह्लाद सिंह 28 जून को मोबाइल पर उदयपुर में कन्हैया की हत्या का वीडियो देख ही रहे थे कि एक पुलिसकर्मी दोस्त का फोन आया। पुलिसकर्मी ने उन्हें RJ 27 AS 2611 नंबर प्लेट वाली बाइक से भाग रहे आरोपियों के बारे में जानकारी दी। उस समय आरोपी देवगढ़ और भीम के बीच में कहीं थे जहां शक्ति और प्रह्ललाद रहते हैं।

यह भी पढ़ें :- उदयपुर हत्याकांड का 26/11 कनेक्शन : मर्डर के लिए खास नंबर वाली बाइक का इस्तेमाल, 5000 रुपये में लिया था बाइक नंबर

कॉल के करीब 20 मिनट बाद दोनों की नजर बाइक स्टैंड में खड़ी बाइक पर नजर पड़ी। उन्होंने नंबर प्लेट देखते ही पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने उन्हें उन पर नजर रखने को कहा। इसके बाद दोनों रियाज और गौस का पीछा करने लगे। उन्होंने हत्यारों का करीब 30 किलोमीटर दूर तक पीछा किया। वह पुलिस को लगातार बताते रहे कि आरोपी किधर जा रहे हैं, किधर मुड़े, क्या कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें :- Udaipur Murder Case : ‘समझौता’ हो गया कहकर नहीं दी थी पुलिस ने सुरक्षा, 15 जून को हुई सबसे बड़ी गलती

कुछ देर बाद रियाज और गौस को शक हुआ तो उन्होंने हथियार दिखाकर डराने की भी कोशिश की। लेकिन प्रह्लाद और शक्ति बिना डरे उनके पीछे लगे रहे। उनकी मदद से आगे चलकर पुलिस ने रास्ते में घेराबंदी करके दोनों आरोपियों को दबोच लिया। अब शक्ति और प्रह्लाद की जमकर तारीफ हो रही है।

सीएम अशोक गहलोत ने दी शाबाशी


मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार को जयपुर में उनसे मुलाकात की। भीम के विधायक सुदर्शन सिंह रावत और राजपूत कर्णी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष महिपाल सिंह मकराना के साथ वे मुख्यमंत्री के पास पहुंचे थे। महिपाल सिंह मकराना ने कहा, ‘हमने मुख्मयंत्री से अपील की कि शक्ति और प्रह्ललाद को सरकारी नौकरी दी जाए, हो सके तो पुलिस में भर्ती कर लिया जाए।’

यह भी पढ़ें :- उदयपुर हत्याकांड : पुलिस ने सुनाया पूरा घटनाक्रम, हत्यारों के आकाओं ने कहा था-‘कैसे भी करके अजमेर पहुंच जाओ…’

यह भी पढ़ें :- Udaipur Murder Case: हत्याकांड के बाद यूपी में पटाखों का जश्न तो कहीं सिर तन से जुदा के स्टेटस: कई मुस्लिम गिरफ्तार

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments