रविवार, नवम्बर 27, 2022
Advertisement
होमIndia NewsSawan 2022 : बिहार के महेंद्रनाथ मंदिर में जल चढ़ाने के दौरान...

Sawan 2022 : बिहार के महेंद्रनाथ मंदिर में जल चढ़ाने के दौरान भगदड़, 2 महिलाओं की मौत

सिवान। सावन का पवित्र महीना (sawan 2022) चल रहा है और आज सावन की पहली सोमवारी है। ऐसे में बिहार के सीवान जिले से सावन के पहले सोमवार को एक दुखद खबर सामने आई है। बिहार के सिवान के महेंद्र नाथ मंदिर में भगवान शिव के जलाभिषेक के लिए भक्तों की भारी भीड़ उमड़ी थी। इस बीच मंदिर में जल चढ़ाने के दौरान भगदड़ मच गई। जिसमें दबकर 2 महिलाओं की मौत (Two women died at mahendra nath temple) हो गई। जबकि एक महिला अस्पताल में इलाजरत है। घटना के बाद वहां काफी अफरा-तफरी का माहौल हो गया। बाद में मौके पर पहुंची पुलिस ने हालात को सामान्य किया।

मंदिर में तिल रखने तक की जगह नहीं

बताया जाता है कि महेंद्र नाथ मंदिर में सुबह से ही भक्तों की भीड़ उमड़ पड़ी थी। मंदिर में श्रद्धालुओं की संख्या इतनी बढ़ गई कि लोग एक दूसरे के ऊपर गिरने लगे। तिल रखने तक की जगह नहीं थी। इसी बीच जल चढ़ाने के दौरान मची भगदड़ में 3 महिलाएं घायल हो गईं। घटना के बाद तीनों को सिवान सदर अस्पताल लाया गया, जहां दो महिलाओं को डॉक्टरों ने मृत घोषित किया। जबकि एक इलाज सिवान सदर अस्पताल में चल रहा है। मृत महिला की पहचान हुसैनगंज थाना क्षेत्र के प्रतापपुर निवासी मोताब चौधरी की पत्नी लीलावती देवी और जीरादेई थाना क्षेत्र के पथार गांव की रहने वाली सुहागमती देवी के रूप में हुई है।

गेट खुलते ही उमड़ पड़ी लोगों की भीड़

उमड़घायल शिव कुमारी के पति जनक देव भगत ने बताया कि मंदिर में सुबह तीन बजे गेट खोलने के दौरान भारी भीड़ उमड़ पड़ी। जिसमें भगवान शिव को जल चढ़ाने के दौरान भगदड़ हो गई। वहीं, गेट के पास दबने से लीलावती देवी और सुहागमती देवी की मौत हो गई। प्रशासन की तरफ से यहां कोई इंतजाम नहीं किया गया है। ‘बहुत लोग बुरी तरह घायल हैं, उनको देखने वाला कोई नहीं है। यहां फर्स्ट एड का भी कोई इंतजाम नहीं है। सूचना के बाद पुलिस भी आधा घंटा बाद पहुंची। तब तक काफी अफरा-तफरी मची रही। प्रशासन की ओर से सुरक्षा का कोई इंतजाम नहीं है। पहले 12 बजे मंदिर खुलता था, इस बार तीन बजे भोर में ही खुल गया। जल चढ़ाने के दौरान एक पर एक लोग चढ़ गए थे, कोई व्यवस्था नहीं थी।’

लोगों का प्रशासन के प्रति गुस्सा

घटना की सूचना मिलने के बाद सिवान थाना पुलिस और चैनपुर महादेवा ओपी पुलिस मंदिर पहुंची और हालात का जायजा लिया और लोगों को शांत कराया। फिलहाल मंदिर में स्थिति सामान्य है लेकिन लोगों का गुस्सा प्रशासन के प्रति अभी भी नजर आ रहा है। स्थानीय लोगों का कहना है कि इतने बड़े अवसर पर प्रशासन की ओर से सुरक्षा का कोई पुख्ता इंतजाम नहीं किया गया था।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments