बुधवार, अक्टूबर 5, 2022
Advertisement
होमIndia NewsSonali Phogat Murder Case : सोनाली मर्डर केस फाइल में खुले राज...

Sonali Phogat Murder Case : सोनाली मर्डर केस फाइल में खुले राज : PA सुधीर सांगवान ने बताया-क्या हुआ उस रात!

पणजी। हरियाणा की बीजेपी नेता और टिक-टॉक स्टार सोनाली फोगाट की हत्या मामले में एक-एक करके कई राज खुल रहे हैं। पुलिस ने सोनाली फोगाट हत्याकांड में पांच आरोपियों PA सुधीर सांगवान, सुखविंदर वासी, कर्लीज रेस्तरां के मालिक एडविन नून्स, ड्रग्स तस्कर दत्ताप्रसाद गांवकर और रामा उर्फ रामादास मांदरेकर को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं गोवा पुलिस ने इस हत्याकांड मामले में मामले में पूरी रिपोर्ट तैयार की है जिसमें सोनाली तक ड्रग्स कैसे पहुंचा, कितनी बार दिया गया, कैसे पिलाई गई, इन सबका जिक्र है। सोनाली फोगाट मर्डर की केस फाइल में यह भी कहा गया है कि आरोपी सुधीर सांगवान ने अपना जुर्म कबूला और बताया कि उसने जबरन ड्रग्स पिलाई थी। रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि सुधीर और सुखविंदर ने 5 हजार और 7 हजार रुपए में ड्रग्स खरीदी थी।

पुलिस की कंप्लेंट कॉपी के मुताबिक, सोनाली फोगाट सुधीर पाल सांगवान और सुखविंदर वासी के साथ 22 अगस्त को फ्लाइट से गोवा पहुंची थीं। यहां वह नॉर्थ गोवा के द ग्रैंड लियोनी रिजॉर्ट में रुकी थी। यहां शाम को उन्हें एक बार ड्रग्स दी गई थी। इसके बाद रिसॉर्ट से वह करीब 10 बजे के बाद कर्लीस क्लब पहुंचीं। सांगवान और सुखविंदर वासी भी उनके साथ थे। सुधीर सांगवान ने पुलिस को बताया कि सोनाली ने पहले रिजॉर्ट में ही ड्रग्स का सेवन किया था। इसके बाद वे लोग रात 10 बजे क्लब पहुंचे। यहां सोनाली को जबरदस्ती ड्रग्स से भरी बोतल की ड्रिंक पिलाई गई। इसके बाद सोनाली की तबीयत बिगड़ गई।

टॉयलेट में उठ भी नहीं पा रही थीं सोनाली

रात करीब 12 बजे के करीब सोनाली फोगाट को दोबारा ड्रग्स दिया गया। पुलिस के मुताबिक, करीब 2.30 बजे सोनाली फोगाट को अच्छा महसूस नहीं हो रहा था। इसके बाद सुधीर उन्हें लेडीज टॉयलेट में लेकर गया। यहां सोनाली को उल्टियां हुईं। इसके बाद वह वापस आकर डांस करने लगी थीं। सुबह साढ़े चार बजे उन्होंने सुधीर से फिर उन्हें टॉयलेट ले जाने को कहा था। वह उन्हें टॉयलेट लेकर गया। इस दौरान सोनाली ने सुधीर को बताया कि वह उठ नहीं पा रही हैं। करीब सुबह 6 बजे सुधीर और सुखविंदर उन्हें दो अन्य लोगों के साथ पार्किंग एरिया में लेकर गया। यहां से उन्हें ग्रैंड लियोनी रिजॉर्ट में लाया गया। रिजॉर्ट से सोनाली को अस्पताल लेकर जाया गया लेकिन वहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।

सोनाली की मौत से डर गए थे आरोपी

सोनाली फोगाट मौत मामले में गोवा पुलिस ने तीन टीमें बनाई हैं जो अलग-अलग ऐंगल पर जांच कर रही हैं। पुलिस ने जांच के दौरान सात सीसीटीवी फुटेज 4 मोबाइल, एक 1 लैपटॉप जब्त किया है। उधर आरोपियों से पूछताछ में कई खुलासे हो रहे हैं। आरोपियों ने बताया कि वह कैसे नोएडा से दिल्ली, दिल्ली से गोवा पहुंचे थे। यहां उन्होंने ड्रग्स खरीदीं। उनका कहना है कि ड्रग्स ओवरडोज के चलते सोनाली की मौत हो गई जिससे वे काफी डर गए थे।

आरोपियों ने वेटर से खरीदी ड्रग्स

दूसरी जांच ड्रग्स एंगल पर हो रही है। पुलिस के मुताबिक, ड्रग तस्कर रमा मांदरेकर ने ही ड्रग्स उपलब्ध कराया था। वह एक सफेद कार से ग्रैंड लियोनी रिजॉर्ट पहुंचा था। वहां उसने रिजॉर्ट के वेटर दत्ता प्रसाद गांवकर को ड्रग्स सौंपा था। गांवकर ने सुधीर सांगवान और सुखविंदर सिंह को 5 हजाार और 7 हजार में ड्रग्स बेचे थे। सुधीर सांगवान ने बताया कि सबसे पहले रिजॉर्ट में ही ड्रग्स का सेवन किया था। पुलिस की तीसरी टीम हरियाणा जा सकती है। वहां परिवार के दावे और तथ्यों के बारे में जानकारी जुटाएगी।

सोनाली के भाई की शिकायत पर दर्ज हुआ था केस

गौरतलब है कि सोनाली के भाई रिंकू ढाका की शिकायत पर पुलिस ने मामले में केस दर्ज किया था। पहले सोनाली की मौत को अप्राकृतिक मौत कहा गया था लेकिन पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में शरीर पर चोट के निशान मिलने पर हत्या की धारा जोड़ी गई। पुलिस ने सुधीर और सुखविंदर को पूछताछ के लिए बुलाया था। इसके बाद आरोपी सुधीर ने अपना जुर्म कबूला और कहा कि वह पूरे मामले को बताना चाहता है।

शिकायत कॉपी में अंजुना पुलिस थाने के पीआई देसाई ने यह भी लिखा है कि सुधीर ने अपना जुर्म कबूला और वॉलनटिअरी कहा कि वह साजिश के हर तार को खोलना चाहता है। सुधीर ने बताया कि उसने सोनाली फोगाट को पानी में एमडी ड्रग्स दिया था। डीएसपी जीवबा दल्वी ने बताया कि सोनाली को Methamphetamine ड्रग्स दिया गया था। आरोपियों ने उन्हें ये ड्रग्स किसी ड्रिंक में मिलाकर दिया था। बता दें, सोनाली फोगाट की गोवा की एक होटल 22 अगस्त को रहस्यमयी परिस्थितियों में मौत हो गई थी। मामले में उसके पीए सुधीर सांगवान व सहयोगी सुखविंद्र समेत पांच को गिरफ्तार किया जा चुका है। आरोपियों को गोवा पुलिस ने 10 दिनों की रिमांड पर लिया है।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments