शनिवार, अगस्त 13, 2022
Advertisement
होमIndia NewsNo Bag Day in School : शनिवार को स्कूल में 'नो बैग...

No Bag Day in School : शनिवार को स्कूल में ‘नो बैग डे’, अब राजस्थान के स्कूलों में सिर्फ पांच दिन ही होगी पढ़ाई

जयपुर। राजस्थान के स्कूलों में अब सिर्फ पांच दिन पढ़ाई होगी। छठे दिन खेलकूद व अन्य गतिविधियां होगी। दो साल पहले सीएम गहलोत ने स्कूलों में शनिवार को नो बैग डे रहने की घोषणा की थी। शिक्षा विभाग ने इसे एकेडमिक ईयर 22-23 से शुरू करने की तैयारी पूरी कर ली है। यानी इस सत्र से बच्चे हफ्ते में संडे के अलावा एक दिन बिना बस्ते के स्कूल में आएंगे। राज्य में बच्चे केवल सोमवार से शुक्रवार ही स्कूल में बैग लेकर पढ़ने आएंगे, वहीं शनिवार को उन्हें खेल कूद व अन्य गतिविधियां करने का मौका दिया जाएगा। हफ्ते के इस दिन को नो बैग डे के रुप में मनाया जाएगा जो पहले से कई राज्यों में लागू है। आपको बता दें कि शिक्षा विभाग ने इसकी पूरी तैयारी कर ली है और यह एकेडमिक ईयर 22-23 से लागू हो जाएगा।

क्या है नो बैग डे

बता दें कि शिक्षा विभाग द्वारा एक कैलेंडर के जरिए नो बैग डे के बारे में पूरी जानकारी दी गई है। विभाग के अनुसार, अब शनिवार को बच्चों को स्कूल बैग लेकर आना नहीं होगा, इस दिन बच्चे स्कूल तो आएंगे लेकिन वे बैग लेकर नहीं आएंगे। इस दिन स्कूल में केवल खेलकूद गतिविधियां सहित विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिताएं और उत्सव आदि मनाएं जाएंगे। नो बैग डे पहले से ही कई राज्यों में चल रहा है, ऐसे में इसे राजस्थान में भी लागू करने की योजना बन गई है।

हर शनिवार को कुछ नया होगा

शिक्षा विभाग की अगर माने तो हर शनिवार को क्या होगा, इसके बारे में पहले से ही कैलेंडर के जरिए सूचना दे दी है। कैलेंडर के अनुसार ही स्कूल में अलग-अलग कार्यक्रमों को आयोजित किया जाएंगा। कैलेंडर के मुताबिक, महीने के पहले शनिवार को बच्चों को राजस्थान से जुड़ी जानकारियों वाले कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। वहीं दूसरे शनिवार को ‘खेलेगा राजस्थान तो बढ़ेगा राजस्थान’ की थीम पर विभिन्न खेलकूद प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएगी। इस थीम के तहत बच्चों को सतोलिया, कबड्डी, कुश्ती जैसे स्थानीय खेलों पर ध्यान दिया जाएगा। शिक्षा विभाग ने बताया कि महीने के तीसरे शनिवार को ‘मैं वैज्ञानिक बनूंगा’ के थीम से जुड़ी प्रतियोगिताओं का आयोजन होगा। इसके साथ चौथे शनिवार को ‘बाल सभा मेरे अपनों के साथ परिवार और परिजनों के साथ’ व्यवहार और समय व्यतीत करने जैसी प्रतियोगिताओं के आयोजन भी होंगे।

बदले गए हैं कक्षाओं का नाम

मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी तेज कंवर ने इस पर बात करते हुए बताया कि इस दिन यानी महीने के हर शनिवार को सभी कक्षाओं के नाम बदले भी जाएंगे। इसके तहत पहली और दूसरी क्लास के बच्चों के ग्रुप को अंकुर नाम दिया जाएगा।

कक्षावार बनेंगे समूह

नो बैग डे के दिन कक्षावार समूह के नाम भी निर्धारित किए हैं, जिसमें पहली-दूसरी के बच्चों के समूह को अंकुर नाम दिया गया है। तीसरी से पांचवी तक के विद्यार्थियों का समूह प्रवेश कहलाएगा। छठी से आठवीं तक विद्यार्थियों के समूह को दिशा नाम से जाना जाएगा, वहीं नवीं तथा दसवीं के बच्चों का समूह क्षितिज कहलाएगा। ग्यारहवीं तथा बारहवीं के विद्यार्थियों का समूह उन्नति के नाम से पहचाना जाएगा।

शनिवार को ही उत्सव और जयंती भी मनाएंगे

विभाग के अधिकारियों ने बताया कि शनिवार को उत्सव और जयंती भी मनाई जाएगी। इसका मतलब यह हुआ कि सोमवार से शुक्रवार के बीच पड़ने वाले उत्सव और जयंती को उस दिन नहीं मना कर उसे केवल शनिवार को ही मनाया जाएगा।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments