शुक्रवार, दिसम्बर 2, 2022
Advertisement
होमAstrologySawan 2022 : सावन में शिवलिंग पर अभिषेक क्यों करते है भक्त,...

Sawan 2022 : सावन में शिवलिंग पर अभिषेक क्यों करते है भक्त, जरूर पूरी होती है मनोकामना

सावन (Sawan 2022) का यह पावन महीना बेहद खास है। पंचांग के मुताबिक कांवड़ यात्रा (Sawan Kanwar Yatra 2022) सावन मास से शुरू हो जाती है। यह महीना भगवान शिव जी को समर्पित माना गया है। इसलिए शिव भक्तों के लिए सावन का महीना बहुत खास होता है। सावन में हर साल भोलेनाथ की कृपा पाने के लिए भक्त कांवड़ यात्रा करते हैं। धार्मिक मान्यता है कि इस महीने में की गई शिवजी की उपासना बेहद लाभकारी होती है। जो भी भक्त इस महीने भगवान शिव के शिवलिंग पर जलाभिषेक करते है उनकी मनोकामना जरूर पूरी होती है।

हर साल की तरह इस वर्ष भी 14 जुलाई से सावन महीने की कांवड़ यात्रा शुरू होगी। सावन का महीना इस साल 14 जुलाई से 12 अगस्त तक रहेगा। इस बार सावन के चार सोमवार व्रत पड़ रहे हैं। सावन के सोमवार का पहला व्रत 18 जुलाई को है। दूसरा सोमवार व्रत 25 जुलाई, तीसरा 8 अगस्त और चैथा 16 अगस्त को है। सावन के हर सोमवार में बेल पत्र से भगवान भोलेनाथ की विशेष पूजा की जाती है। भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए उनके भक्त इस महीने कांवड़ लेने भी जाते हैं।

पौराणिक धार्मिक कथा के मुताबिक, अमृत कलश की प्राप्ति के लिए समुद्र मंथन हुआ तो उसमें से 14 रत्नों की प्राप्ति हुई थी। कहा जाता है कि उस समुद्र मंथन से विष की भी प्राप्ति हुई थी। जिसे पीने के लिए कोई देवतागण तैयार नहीं हुए, लेकिन भगवान शिव ने उस विष को पी लिया जो उनके गले से नहीं उतरा। जिसकी वजह से उनका गला नीला पड़ गया, जिसकी वजह से उनका नाम नीलकंठ पड़ा। धार्मिक मान्यता है कि रावण भगवान शिव का परम भक्त था और वह भगवान शिव का जलाभिषेक किया करता था, जिससे भोलेनाथ को विष से राहत मिली।

यह भी पढ़े :- प्यार में अनलकी होते हैं इस राशि के लोग, बदले में मिलता है सिर्फ धोखा!
यह भी पढ़े :- इन 4 राशियों में होता है धन कमाने की सबसे ज्यादा इच्छा, जानिए आपकी राशिफल धनी है या नहीं!
यह भी पढ़े :-आपके माथे पर है दो रेखाएं तो आपकी उम्र होगी इतनी! जानिए कैसे

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments