रविवार, नवम्बर 27, 2022
Advertisement
होमCrime NewsCRPF जवान ने खुद को गोली मारीः छुट्टी न मिलने से था...

CRPF जवान ने खुद को गोली मारीः छुट्टी न मिलने से था नाराज, दबाव बनाने के लिए परिवार को 18 घंटे बंधक बनाया

जोधपुर। राजस्थान के जोधपुर में छुट्टी नहीं मिलने से नाराज सीआरपीएफ जवान नरेश जाट ने खुद को गोली मार ली। इसके पहले उसने अफसरों पर दबाव बनाने के लिए रविवार शाम को करीब 6ः00 बजे से सोमवार तक 18 घंटे तक अपनी पत्नी और बेटी को घर में बंधक बनाए रखा। पुलिस और प्रशासन ने उसे समझाने की बहुत कोशिश की, लेकिन वह नहीं माना। आखिर में उसने चार अफसरों के सामने खुद को गोली मार ली। नरेश जाट को गंभीर हालत में अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।
मामला जोधपुर के पालड़ी खिचियान स्थित सीआरपीएफ के रिक्रूट ट्रेनिंग सेंटर का है। बताया जा रहा है कि नरेश जाट का छुट्टी को लेकर डीआईजी भूपेंद्र सिंह से विवाद हो गया था।

परिजनों को मनाने के लिए बुलाया

नरेश को समझाने के लिए देर रात उसके परिजनों को पाली से बुलाया गया। जवान ने सीआरपीएफ के आईजी के सामने ही सरेंडर करने की शर्त रखी थी, आईजी उससे बातचीत करने पहुंचे भी, लेकिन बातचीत के बाद उसने आईजी के सामने ही खुद को गोली मार ली।

यह भी पढ़ें :- Firing In Jodhpur CRPF Training Center: जोधपुर में CRPF जवान ने अपने परिवार सहित खुद को बनाया बंधक

डीआईजी ने दी धमकी तो हुआ नाराज

बताया जा रहा है कि नरेश के पास इंडियन स्मॉल आर्म सिस्टम (आईएनएसएएस) 5.56 यानी लाइट मशीनगन थी। नरेश ने इस मशीनगन से कई राउंड हवाई फायर किए। जवानों के मुताबिक नरेश छुट्टी नहीं मिलने से परेशान था। इसे लेकर ही रविवार को रिक्रूट ट्रेनिंग सेंटर के डीआईजी भूपिंदर सिंह से उसकी बहस भी हो गई। बात बढ़ी तो डीआईजी ने नरेश को बर्खास्त करने की धमकी तक दे दी। इससे गुस्साए जवान ने एक अन्य जवान पर हमला कर दिया और उसका हाथ काट लिया। इससे जवान घायल हो गया। फिर नरेश गुस्से में क्वार्टर के अंदर चला गया और दरवाजा बंद कर लिया। इसके बाद बाहर नहीं आया।

पुलिस ने बुलेट प्रूफ जैकेट पहन पास जाने की कोशिश की

जब नरेश जाट ने घर का दरवाजा अंदर से बंद किया, तब घर में उसकी पत्नी और 6 साल की बच्ची भी थी। इसके बाद जवान ने लाइट मशीनगन से गैलरी में आकर हवाई फायर करना शुरू कर दिया। पुलिसकर्मियों ने बुलेटप्रूफ जैकेट पहनकर पास जाने की कोशिश की, लेकिन एलएमजी के सामने किसी की हिम्मत नहीं हुई। ऐसे में पुलिस ने लाउडस्पीकर से ही अनांउस कर जवान को समझाने का प्रयास किया। बुलेटप्रूफ जैकेट पहने कमांडो भी साथ आए, लेकिन नरेश जाट तक नहीं पहुंच पाए।

लाइट मशीन गन ठुड्डी के नीचे रखकर गोली मारी

सीआरपीएफ जवान की मौके पर ही मौत हो गई। कमिश्नर रवि गौड़ ने बताया कि कल शाम से समझाइश का दौर चल रहा था। पाली से मां-बाप को बुलाया गया था। जयपुर से भी अधिकारी रवाना हो गए थे। फोन पर भी उसे समझाया जा रहा था। सुबह उसने पिता को अपने पास आने को कहा, लेकिन इसके बाद मना कर दिया। समझाइश चल ही रही थी कि उसने ठुड्डी के नीचे मशीन गन रखकर खुद को गोली मार ली। कमिश्नर ने बताया कि पत्नी और बच्ची दोनों सुरक्षित हैं।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments