गुरूवार, दिसम्बर 1, 2022
Advertisement
होमIndia Newsराजस्थान के सियासी रण में आप की एंट्री, पहली बार भाजपा-कांग्रेस को...

राजस्थान के सियासी रण में आप की एंट्री, पहली बार भाजपा-कांग्रेस को कोई तीसरी पार्टी देगी टक्कर

जयपुर। राजस्थान में विधानसभा चुनाव भले ही 2023 में हैं, लेकिन राज्य की राजनीति में अभी से गरमा गई है। राजस्थान के चुनावी रण में इस बार आम आदमी पार्टी की भी एंट्री हो गई है। दिल्ली, पंजाब में सरकार बनाने के बाद आप पार्टी का अब राजस्थान में चुनाव लड़ने के लिए तैयार है। शुक्रवार को आप ने प्रदेश की सभी 200 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ने का ऐलान किया है। इसके लिए पार्टी कार्यकर्ताओं ने ग्राम अभियान भी शुरू कर दिया है। यह राज्य के इतिहास में पहली बार होगा कि कोई तीसरी पार्टी सभी 200 सीटों पर चुनाव लड़ने जा रही है।

राजस्थान में विधानसभा चुनावों के लिए ग्राम संपर्क अभियान

राजस्थान विधानसभा चुनाव के लिए जहां एक तरफ कांग्रेस सरकार जनता को लुभाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ रही है। तो दूसरी तरफ भाजपा भी अपने संगठन मजबूत करने में जुट गई है। इसी बीच आम आदमी पार्टी ने भी राजस्थान में विधानसभा चुनावों की तैयारी के लिए 15 जुलाई से ही ग्रामीण इलाकों के संगठन को मजबूत बनाने की कोशिश कर दी है। हिमाचल और गुजरात के आम आदमी पार्टी के प्रभारी और राज्यसभा सांसद डॉ. संदीप पाठक ने राजस्थान में ग्राम संपर्क अभियान की शुरुआत की है। आप नेताओं का कहना है कि आजादी के बाद कांग्रेस और भाजपा ने विकास के नाम पर राजस्थान की जनता के साथ छलावा किया है।

आप पार्टी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के विकास के मॉडल पर जनता की समस्याओं को दूर करने के लिए राजस्थान विधानसभा चुनावों में उतरने की तैयारी की है। इसके लिए ग्रामीण स्तर से संगठन को मजबूत बनाने की कवायद शुरू की जा रही है। इसके बाद सर्किल, जिला स्तर एवं संभाग स्तर पर संगठन को मजबूत किया जाएगा। राज्य स्तर पर संगठन को तैयार करने से पहले राजस्थान में पार्टी द्वारा सर्वे करवाया जाएगा। आम आदमी पार्टी के थिंक टैंक माने जाने वाले डॉ. संदीप पाठक और उनकी टीम इन दिनों राजस्थान के साथ साथ छत्तीसगढ़ और गुजरात में भी पार्टी का जनाधार मजबूत करने का काम कर रही है। पंजाब मुंगेली जिले के डॉ. संदीप पाठक को अरविंद केजरीवाल ने पंजाब से राज्यसभा भेजा है। आप कार्यकर्ताओं की टीम दिल्ली और पंजाब के विकास मॉडल को राजस्थान की जनता के बीच लेकर जाएगी। प्रदेश के दूर-दराज ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोगों की मूलभूत समस्याओं दूर करने को लेकर पार्टी संगठन का ढांचा तैयार कर रही है।

अगस्त में आ सकते हैं अरविंद केजरीवाल

मिशन मोड़ में आई आम आदमी पार्टी की आने वाले दिनों में हलचलें और तेज़ होने जा रही हैं। आगामी चार माह में प्रदेश में संगठन को मजबूत करने के साथ-साथ ही दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल की एक बड़ी सभा करवाने की तैयारियां भी शुरू करवा दी गई है।

11000 से ज्यादा ग्रामीण इलाकों में बैठक

विधानसभा चुनाव को देखते हुए आम आदमी पार्टी ग्राम संपर्क अभियान में 11000 से ज्यादा ग्रामीण इलाकों में मीटिंग का आयोजन करेगी। पार्टी के कार्यकर्ता और पदाधिकारी आम आदमी पार्टी के सिद्धांतों के साथ दूसरे दलों के क्रियाकलापों पर जनता के बीच विचार विमर्श करेगी। सांसद संदीप पाठक का कहना है कि इस संपर्क अभियान में पार्टी की साफ सुथरी छवि के साथ-साथ आम आदमी के साथ जुड़ने का प्रयास किया जाए। हाल ही में हुए प्रशिक्षण शिविर को संबोधित करते हुए सांसद संदीप पाठक ने कहा है कि दिल्ली और पंजाब में विकास के परिवर्तन की रूपरेखा पर राजस्थान में जनता का भरोसा जीता जा सकता है।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments