शुक्रवार, दिसम्बर 2, 2022
Advertisement
होमIndia Newsपैगंबर पर बयान पर बवाल, जानिए किस मुस्लिम देश ने क्या कहा

पैगंबर पर बयान पर बवाल, जानिए किस मुस्लिम देश ने क्या कहा

नई दिल्ली। पैगंबर मोहम्मद पर टिप्पणी करने के मामले में भाजपा नेता नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल पर पार्टी ने कार्रवाई करते हुए निलंबन कर दिया। नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल के बयान पर खाड़ी देशों ने कड़ी आपत्ति की है। कतर, कुवैत और ईरान ने भारतीय राजदूतों को तलब कर विरोध जताया है। कतर-कुवैत ने भारत सरकार से इस बयान पर माफी की मांग की है। वहीं, सऊदी अरब ने भी इस बयान पर ऐतराज जताया है। इस बीच 57 मुस्लिम देशों के संगठन इस्लामिक सहयोग संगठन (ओआईसी) ने भी निंदा की है। संगठन ने सोशल मीडिया पोस्ट कर कहा- भारत में बीते दिनों में मुस्लमानों के खिलाफ हिंसा के मामले बढ़े हैं। कई राज्यों में शैक्षणिक संस्थानों में हिजाब में बैन के साथ मुस्लिमों पर प्रतिबंध लगाए जा रहे हैं। बीजेपी ने अपने आदेश में लिखा कि वह ‘सभी धर्मों का सम्‍मान करती है।’ इस ऐक्‍शन के बाद भारत ने आधिकारिक रूप से मुस्लिम देशों को जवाब भेजा।

आइए आपको बताते हैं कि पूरे विवाद पर किन किन मुस्लिम देशों ने क्‍या-क्‍या कहा है ।

सऊदी अरब
विदेश मंत्री प्रिंस फैसल बिन फरहान अल-सऊद ने सोमवार को सोशल मीडिया पर आधिकारिक बयान जारी किया। सऊदी ने बीजेपी नेता के बयान की निंदा-भर्त्‍सना की है। दोनों को बीजेपी से निकाले जाने के फैसले की प्रशंसा भी की गई।

कुवैत
विदेश मंत्रालय ने भारतीय राजदूत को एक नोट सौंपकर नूपुर और जिंदल के बयानों पर विरोध दर्ज कराया। मंत्रालय ने सार्वजनिक माफी की मांग करते हुए दोनों के निलंबन का स्‍वागत किया।

कतर
कतर के विदेश मंत्रालय ने रविवार को भारत के राजदूत को तलब करके विरोध दर्ज कराया। एक ऑफिशियल नोट में कतर ने मांग की कि दुनियाभर के सभी मुसलमानों से सार्वजनिक रूप से माफी मांगी जाए। विदेश मंत्री के प्रवक्‍ता ने कहा कि ‘ऐसी इस्‍लाम विरोधी टिप्‍पणियों पर सजा न देना मानवाधिकार की रक्षा के लिए गंभीर खतरा है और मुस्लिमों के प्रति पूर्वाग्रह बढ़ाकर उन्‍हें हाशिए पर डाल सकता है जिससे हिंसा और नफरत का चक्र शुरू हो जाएगा।’

यह भी पढ़े :- विवादित बयान पर बीजेपी ने की बड़ी कार्रवाई, नुपुर शर्मा और नवीन जिंदल सस्पेंड

पाकिस्‍तान
सोमवार को पाकिस्‍तान ने भारतीय प्रतिनिधि को बुलाकर फटकार लगाई। एक बयान में पाकिस्‍तान के विदेश मंत्रालय ने शर्मा-जिंदल की टिप्‍पणियों को ‘पूरी तरह से अस्‍वीकार्य’ करार दिया। पाकिस्‍तान ने कहा कि ऐसी टिप्‍पणियों से ‘दुनियाभर के मुस्लिमों की भावनाएं आहत हुई हैं।’

ईरान
आधिकारिक रूप से ईरान ने कोई बयान नहीं जारी किया है। हालांकि ईरान इंटरनैशनल न्‍यूज के अनुसार, विदेश मंत्रालय ने तेहरान में भारतीय दूतावास को तलब किया है। रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय राजदूत ने ‘खेद प्रकट करते हुए कहा कि इस्‍लाम के पैगंबर का अपमान अस्‍वीकार्य है और यह भारत सरकार की राय नहीं है।’ ईरान के विदेश मंत्री हुसैन हुसैन अमीर अब्दुल्लाहियां अगले हफ्ते पहली बार नई दिल्‍ली आ रहे हैं।

ओमान
ओमान के ग्रैंड मुफ्ती शेख अहमद बिन हमाद अल खलीली ने बीजेपी के खिलाफ अभियान चलाया और सभी मुस्लिम राष्ट्रों से एकजुट होने को कहा।

भारत ने ओआईसी का बयान किया खारिज

भारतीय विदेश मंत्रालय ने ओआईसी के बयान पर ऐजराज जताया है। विदेश मंत्रालय ने कहा कि भारत ओआईसी सचिवालय की गैरजरूरी और छोटी सोच वाली टिप्पणियों को साफ तौर पर खारिज करता है। भारत सरकार सभी धर्मों को सम्मान देती है।

सऊदी और बहरीन ने किया फैसले का स्वागत

भाजपा ने भी तुरंत एक्शन लेते हुए प्रवक्ता नूपुर शर्मा को पार्टी से 6 साल के लिए निलंबित कर दिया। इसके बाद भारत ने बयान जारी कर कहा कि जो भी गलतबयानी की गई वो भारत सरकार का ऑफिशियल स्टैंड नहीं है। इसके साथ सरकार ने विवादित बयान देने वाले नेताओं को पार्टी बाहर करने की बात पर भी फोकस किया। सऊदी अरब और बहरीन ने इस फैसले का स्वागत किया है। पार्टी महासचिव अरुण सिंह ने बयान जारी करते हुए कहा कि पार्टी किसी भी संप्रदाय या धर्म का अपमान करने वाली किसी भी विचारधारा के खिलाफ है। पार्टी सभी धर्मों का सम्मान करती है और किसी भी धार्मिक व्यक्तित्व के अपमान की कड़ी निंदा करती है। भाजपा ऐसे लोगों या विचारों को बढ़ावा नहीं देती है।

नूपुर ने पैगंबर साहब पर की थी आपत्तिजनक टिप्पणी

गौरतलब है कि 26 मई को एक न्यूज चैनल पर ज्ञानवापी मामले को लेकर डिबेट हो रही थी। इसमें भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा भी मौजूद थीं। डिबेट के सवाल पर नूपुर शर्मा ने पैगंबर मोहम्मद साहब पर कथित तौर पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी, जिसका मुस्लिम समुदाय लगातार विरोध कर रहा है। पिछले दिनों शर्मा ने बयान जारी कर कहा कि उनके बयान को तोड़-मरोड़ कर पेश किया गया। शर्मा पर महाराष्ट्र समेत कई राज्यों में मुकदमा भी दर्ज किया गया है।

यह भी पढ़े :-स्वाइन फ्लू से हुई मौतों से मचा हड़कंप, राजस्थान, यूपी सहित इन राज्यों में मिले केस

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments