रविवार, नवम्बर 27, 2022
Advertisement
होमIndia Newsदिल्ली वासियों को ट्रैफिक की समस्या से मिलेगी निजात: पीएम मोदी ने...

दिल्ली वासियों को ट्रैफिक की समस्या से मिलेगी निजात: पीएम मोदी ने प्रगति मैदान कोरिडोर का किया उद्घाटन

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली को आज केंद्र सरकार की तरफ से आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर का बहुत सुंदर उपहार मिला है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को प्रगति मैदान एकीकृत ट्रांजिट कॉरिडोर परियोजना की मुख्य सुरंग समेत पांच अंडरपास राष्ट्र को समर्पित किया। केंद्र सरकार द्वारा पूरी तरह से वित्तपोषित प्रगति मैदान इंटिग्रेटेड ट्रांजिट कॉरिडोर परियोजना की निर्माण लागत 920 करोड़ रुपए है। इतने कम समय में इस कॉरिडोर को तैयार करना आसाना नहीं था। जिन सड़कों के आसपास यह कॉरिडोर बना है, वे सड़कें दिल्ली की सबसे व्यस्त सड़कें हैं। इस सभी मुश्किलों के बीच कोरोना आ गया। लेकिन, यह नया भारत है। समस्याओं का समाधान भी करता है, नए संकल्प भी लेता है और उन संकल्पों को सिद्ध करने के लिए प्रयास भी करता है।

भारत बदला लेकिन प्रगति मैदान की ज्यादा प्रगति नहीं हुई

पीएम पीएम मोदी ने कार्यक्रम के दौरान कहा दशकों पहले भारत की प्रगति कोए भारतीयों के सामर्थ्यए भारत के प्राडक्ट्सए हमारी संस्कृति को शोकेस करने के लिए प्रगति मैदान का निर्माण हुआ था। तबसे भारत बदल गयाए भारत का सामर्थ्य बदल गया, जरूरतें कई गुणा बढ़ गईं, लेकिन प्रगति मैदान की ज्यादा प्रगति नहीं हुई। देश की राजधानी में विश्व स्तरीय कार्यक्रमों के लिए स्टेट आॅफ आर्ट तज सुविधाएं हों, एक्जीबिशन हॉल हों, इसके लिए भारत सरकार निरंतर काम कर रही है।

पांच मिनट में पूरा होगा आधे घंटे का सफर

इस टनल के खुल जाने से मेरठ एक्सप्रेस वे से होकर इंडिया गेट जाने वाले लोगों की राह आसान होने जाएगी। छह लेन की प्रगति मैदान टनल खुलने से रिंग रोड व इंडिया गेट की आवाजाही सिग्नल फ्री होगी। सफर का यह हिस्सा तीस मिनट की जगह बमुश्किल पांच मिनट में पूरा होगा। इससे प्रगति मैदान की नजदीकी सभी सड़कों की आवाजाही आसान होगी। इन सड़कों से गुजरने वाले लाखों वाहन चालक बगैर जाम में अपनी मंजिल तक पहुंच सकेंगे।

गाजियाबाद व नोएडा के लोगों को भी मिलेगा फायदा

रिंग रोड स्थित प्रगति पावर स्टेशन से शुरू होने वाली करीब 1.6 किमी लंबी टनल नेशनल स्पोर्ट्स क्लब के नजदीक तक पहुंचा देगी। इसका फायदा पूर्वी दिल्ली के साथ गाजियाबाद व नोएडा के लोगों को भी मिलेगा। भैरों मार्ग व मथुरा रोड के जाम में फंसे बगैर वह अपनी मंजिल तक पहुंच सकेंगे। वहीं, मथुरा रोड की भी आवाजाही आसान होगी। डीपीएस मथुरा रोड से भगवान दास टी प्वाइंट के बीच के चार सिग्नल हट जाने से आईटीओ चैक पहुंचना भी मिनटों में हो सकेगा।

यह भी पढ़े :- मोदी सरकार का बड़ा दांव, डेढ़ साल में 10 लाख नौकरियां

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments