शुक्रवार, दिसम्बर 2, 2022
Advertisement
होमIndia NewsPetrol Diesel Crisis : देश में पेट्रोल-डीजल खत्म होने की खबर कितनी...

Petrol Diesel Crisis : देश में पेट्रोल-डीजल खत्म होने की खबर कितनी है सच? जानिए आईओसी ने क्या कहा…

नई दिल्ली। क्या भारत में भी श्रीलंका की तरह पेट्रोल-डीजल की कमी हो गई है? यह सवाल इसलिए है क्योंकि पिछले दो दिनों से कई राज्यों में फ्यूल स्टेशनों पर पेट्रोल-डीजल नहीं मिल रहा है। दरअसल, पिछले दो दिनों से पूर्वी उत्तर प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और दक्षिण भारत के कुछ इलाकों से यह खबर आई कि इन इलाकों में पेट्रोल पंपों पर पेट्रोल-डीजल नहीं मिल रहा है। बताया जा रहा है कि इन इलाकों के पेट्रोल पंपों में पेट्रोल-डीजल खत्म हो गया है। पेट्रोल कंपनियों को पेट्रोल की कीमतें बढ़ाने की अनुमति नहीं मिल रही है, पेट्रोल बेचने में घाटा हो रहा है, इसलिए सप्लाई कम करके घाटे को कम किया जा रहा है। क्या वाकई ये सच है या सोशल मीडिया पर चल रही अफवाह है। आइए जानते है कि आखिर क्या सच है।

तेल में कमी की खबर सही

इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन ने देश में तेल की कमी न होने का दावा किया है। उन्होंने कहा कि देश के कुछ हिस्सों में तेल की सप्लाई में परेशानी आ रही है। तेल की कीमत देने के बाद भी कंपनियां समय पर सप्लाई नहीं कर रही हैं। सरकार को इस समस्या से अवगत कराया गया है। उन्होंने कहा कि वे केंद्र सरकार से अपील करते हैं कि वे तेल कंपनियों से बातचीत कर मामले का हल निकालें और सप्लाई सुनिश्चित कराएं। इस एसोसिएशन से देश के लगभग 72 हजार पेट्रोल पंप जुड़े हुए हैं।

इन हिस्सों में ज्यादा कमी

तेल कंपनियों की तरफ से कई राज्यों को पेट्रोल-डीजल की पर्याप्त सप्लाई नहीं दी जा रही है, जिसके कारण पूर्वी उत्तर प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, मध्यप्रदेश और दक्षिण भारत के कई राज्यों के पेट्रोल पंपों पर पर्याप्त मात्रा में तेल नहीं मिल पा रहा है। एडवांस में पैसा देने के बाद भी डीलरों को पेट्रोल नहीं मिल पा रहा है। वहीं दिल्ली-एनसीआर के क्षेत्र में पेट्रोल-डीजल की उपलब्धता में कोई कमी नहीं है, लेकिन दूसरे शहरों और दूर-दराज के क्षेत्रों में स्थिति ज्यादा खराब है।
सरकारी क्षेत्र की तीन पेट्रोल कंपनियों (इंडियन ऑयल, भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम) के लगभग 70,000 पेट्रोल पंपों पर तेल की कमी अपेक्षाकृत कम है, जबकि निजी क्षेत्र के पेट्रोल पंपों पर स्थिति ज्यादा खराब है। रिलायंस एनर्जी से जुड़े पेट्रोल पंप ने तेल सप्लाई लगभग ठप कर दी है, तो एसआर ग्रुप और नायरा एनर्जी कुल मांग का लगभग 25 फीसदी पेट्रोल-डीजल की सप्लाई ही कर रहे हैं।

कोई नहीं सुन रहा हमारी बात

वहीं दूसरी ओर तेल विक्रेताओं ने आरोप लगाते हुए बताया कि पेट्रोल-डीजल की कमी के बारे में केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री, मंत्रालय के सचिव और अन्य अधिकारियों को लगभग 15 दिन पहले से अवगत कराया जा रहा है, लेकिन उन्हें किसी तरफ से कोई जवाब नहीं दिया जा रहा है। विभिन्न पेट्रोल पंप डीलरों के एसोसिएशन पत्र लिखकर इसके बारे में अधिकारियों को जानकारी दे रहे हैं, लेकिन इस पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।

तेल की कमी नहीं: आईओसी

वहीं, इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन ने मंगलवार को कहा कि देश के किसी भी हिस्से में पेट्रोल-डीजल की कोई कमी नहीं है। कॉर्पोरेशन ने कहा है कि कुछ शरारती तत्त्वों ने जानबूझकर इस तरह की अफवाह फैलाई है और इस खबर में कोई सच्चाई नहीं है। कहा गया है कि इस तरह की अफवाह के बाद लोग पेट्रोल पंपों पर उमड़ पड़े, लेकिन ऐसी कोई स्थिति नहीं है। अफवाह फैलाने वालों की पहचान की जा रही है।

यह भी पढ़े :- राजस्थान सहित कई राज्यों में पेट्रोल पंप पर दौड़े लोग, जानिए पूरा माजरा

यह भी पढ़े :- नीट-पीजी में 1456 खाली सीटें, सुप्रीम कोर्ट ने कहा-‘छात्रों के भविष्य के साथ हो रहा खिलवाड़’

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments