बुधवार, अगस्त 10, 2022
Advertisement
होमIndia NewsNupur Sharma : रिजवान पाकिस्तान में भी अपराधी: लाहौर में तोड़ी थी...

Nupur Sharma : रिजवान पाकिस्तान में भी अपराधी: लाहौर में तोड़ी थी महाराजा रणजीत सिंह की मूर्ति

श्रीगंगानगर। राजस्थान के श्रीगंगानगर (Sri Ganganagar) जिले में स्थित हिंदूमलकोट (hindu malkot border) पर बीते दिनों बीएसएफ (BSF) ने पाकिस्तान घुसपैठिए (pak ghuspaith) को गिरफ्तार किया। भारत में घुसपैठ करने के प्रयास में गिरफ्तार हुआ 24 वर्षीय रिजवान के बारे में चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं। नूपुर शर्मा को मारने भारत आया घुसपैठिया रिजवान पाकिस्तान में इमरान सरकार को घेरने वाले कट्‌टरपंथी संगठन तहरीक-ए-लब्बैक से जुड़ा है। संगठन ने एक पूरा प्लान बनाकर उसे भारत भेजा था। अब राजस्थान के श्रीगंगानगर में IB, मिलिट्री इंटेलिजेंस, BSF और पुलिस उसके लोकल कनेक्शन को तलाश रही हैं।

सूत्रों के मुताबिक रिजवान पाकिस्तान के लाहौर में अगस्त 2021 में महाराजा रणजीत सिंह की मूर्ति तोड़ने के मामले में जेल जा चुका है। श्रीगंगानगर आए एडीजी (सिक्योरिटी) एस. सेंगाथिर ने बताया कि 16 जुलाई की रात करीब 11 बजे श्रीगंगानगर से लगे हिंदूमलकोट बॉर्डर फेंसिंग से रिजवान को पकड़ा गया था। एडीजी का कहना है कि बिना स्थानीय मदद के इतनी बड़ी वारदात की साजिश संभव नहीं है। बुधवार को पूछताछ के दौरान रिजवान ने तहरीक-ए-लब्बैक से जुड़े होने की बात कबूली है। अब ऐसे लोगों को ढूंढा जा रहा है जो सोशल मीडिया के जरिए इस संगठन के संपर्क में आए हैं।

यह भी पढ़ें :- नूपुर शर्मा की हत्या करने पाक से आया घुसपैठिया : राजस्थान बॉर्डर पर 11 इंच लंबा चाकू और मैप के साथ पकड़ा

घुसपैठिया प्लांट किया गया, यह जांच का विषय

एडीजी ने कहा कि तहरीक-ए-लब्बैक ने घुसपैठिए को इस इलाके में प्लांट किया या वह खुद ही आया, इस बारे में साफ तौर पर कुछ भी नहीं कहा जा सकता है। आरोपी को 23 जुलाई तक रिमांड पर लिया गया है।

नुपुर की हत्या करने की कबूली बात

रिजवान को बीएसएफ ने हिंदूमलकोट सेक्टर में खखां चेक पोस्ट से पकड़ा था। वह भारत में घुसने का प्रयास कर कर रहा था। खुफिया एजेंसियों की पूछताछ में घुसपैठिए ने नुपुर शर्मा की हत्या करने की बात कबूली थी। पहले उसने अपने घर मंडी बहाऊद्दीन से लाहौर के रास्ते भारत में घुसने का प्रयास किया, लेकिन वह कामयाब नहीं हो पाया। उसके बाद वह साहिवाल होते हुए जिले की हिंदूमलकोट सीमा पहुंचा। भारत में घुसने के प्रयास के दौरान खखां चेक पोस्ट के पास बीएसएफ ने उसे धर दबोचा। वहीं रिजवान से जब उसके परिवार के बारे में पूछा तो रिजवान ने बताया कि उसका बड़ा भाई इटली और छोटा भाई दुबई में रहता है। रिजवान का कहना है कि उसे नूपुर शर्मा का घर कहां है, इस बारे में कुछ पता नहीं था।

मोबाइल या सिम नहीं मिली

रिजवान के पास धार्मिक किताबों के अलावा कुछ भी नहीं मिला है। उसके पास मोबाइल या सिम नहीं मिली है। वह बार-बार बस यही कहता है कि नूपुर शर्मा को मारने आया है। आरोपी खुद को 8वीं पास बता रहा है। एजेंसियों के अनुसार वह काफी शातिर है और अपने कॉन्टैक्ट के बारे में कोई भी खुलासा नहीं कर रहा है।

भारत भेजने से पहले किया ब्रेनवॉश

तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान में कट्टर दक्षिणपंथी इस्लामी चरमपंथी राजनीतिक संगठन है। 2018 के आम चुनाव में उसे 22 लाख से अधिक वोट मिले थे। उसके तीन सदस्य पाकिस्तानी एसेंबली में भी हैं। यह संगठन 2015 में अस्तित्व में आया था। इसकी स्थापना खामिद हुसैन रिजवी ने की थी। आरोपी रिजवान इस पार्टी से जुड़ाव रखता है। उसे भारत भेजने से पहले संगठन के जिला मुख्यालय मंडी बहाउद्दीन में ट्रेनिंग देकर उसका ब्रेनवॉश किया गया था।

इमरान सरकार के खिलाफ तहरीक-ए-लब्बैक संगठन ने किया था आंदोलन

तहरीक-ए-लब्बैक संगठन ने पाकिस्तान में इमरान सरकार के खिलाफ एक बड़ा आंदोलन किया था। इसी आंदोलन से प्रेरित होकर रिजवान संगठन में शामिल हो गया था। वह इस संगठन का सक्रिय सदस्य है। नूपुर शर्मा के विवादित बयान के बाद इसी संगठन ने रिजवान को भारत में घुसपैठ के लिए तैयार किया। संगठन की शह पर रिजवान कुछ दूर तक बस और फिर पैदल चलकर आया था। हालांकि अब तक उसने मदद करने वालों के बारे में खुलासा नहीं किया है।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments