रविवार, नवम्बर 27, 2022
Advertisement
होमIndia NewsKerala Neet Controversy : केरल NEET में अंडरगार्मेंट्स चेकिंग विवाद में दो...

Kerala Neet Controversy : केरल NEET में अंडरगार्मेंट्स चेकिंग विवाद में दो और गिरफ्तार

नई दिल्ली। केरल के कोल्लम में 17 जुलाई को NEET के लिए चेकिंग के दौरान लड़कियों से इनवियर उतारने को कहा गया था। इस मामले में पुलिस ने दो और लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस के मुताबिक, गिरफ्तार किए गए प्रोफेसर प्रीजी कुरियन और डॉ. शमनाद दोनों ने ही अधिकारियों को ऐसी चेकिंग करने का आदेश दिया था। इसके साथ ही अब तक कुल गिरफ्तार लोगों की संख्या 7 हो गई है। पुलिस ने बुधवार तक 5 लोगों को गिरफ्तार किया था। इनमें से तीन महिलाएं परीक्षा कराने वाली नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) से थीं, जबकि दो महिलाएं कॉलेज से थीं।

यह भी पढ़ें :- NEET देने गई छात्राओं के जबरन उतरवाए गए अंडरगारमेंट्स : परीक्षार्थियों की बातें सुनकर सन्न रह जाएंगे

गौरतलब हैं कि 17 जुलाई को केरल के कोल्लम जिले में मेडिकल प्रवेश परीक्षा NEET के एग्जाम के दौरान छात्राओं के अंडरगारमेंट्स उतरवाने का मामला सामने आया था। इस मामले के सामने आने के बाद देशभर में बवाल हुआ। बताया जा रहा है कि परीक्षा देने पहुंची छात्राओं की चेकिंग के दौरान ब्रा में लगे हुक की वजह से मेटल डिटेक्टर की बीप बज रही थी, जिसके बाद अंडरगारमेंट्स उतरवाए गए थे। इसके बाद एक छात्रा के पिता ने इस मामले की शिकायत पुलिस से की थी। उसके बाद यह मामला सामने आया था। लगभग 90 प्रतिशत छात्राओं की ब्रा उतरवाई गई थी।

यह भी पढ़ें :- NEET UG 2022 EXAM: श्रीगंगानगर में दोबारा होगी NEET परीक्षा, गड़बड़ी के बाद केंद्र सरकार ने लिया फैसला

5 की पहले हुई गिरफ्तारी

छात्राओं का आरोप था कि जब वह परीक्षा देकर बाहर निकलीं, तो उन्होंने देखा कि सबके अंडरगारमेंट्स एक ही डिब्बे में रखे हुए थे। इस घटना के बाद छात्राओं ने खुद को प्रताड़ित महसूस किया था। इस मामले में पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू थी। इससे पहले छात्राओं के इनरवियर उतरवाने के मामले में पुलिस ने पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार लोगों में परीक्षा केंद्र बनाए गए मार्थोमा कॉलेज की दो महिला सफाईकर्मी और सेंटर की सुरक्षा में तैनात एजेंसी की तीन महिला कर्मचारी शामिल हैं।

फैक्ट फाइंडिंग कमेटी बनी

देशभर में इस मामले को लेकर विवाद बढ़ने के बाद अब नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने जांच के लिए फैक्ट फाइंडिंग टीम गठित कर दी है। फैक्ट फाइंडिंग टीम में NTA की सीनियर डायरेक्टर साधना पाराशर, सरस्वती विद्यालय अरापुर्रा की प्रिंसिपल शैलजा ओ आर, प्रगति अकेडमी केरल की सुचित्रा शामिल हैं। टीम को चार हफ्तों में जवाब दाखिल करना है।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments