शुक्रवार, दिसम्बर 9, 2022
Advertisement
होमIndia NewsMonkeypox Suspect Dies In Kerala : भारत में मंकीपॉक्स से पहली मौत!...

Monkeypox Suspect Dies In Kerala : भारत में मंकीपॉक्स से पहली मौत! दिल्ली से केरल तक ठीक हुए मरीज

तिरुवनंतपुरम। केरल में गुरुवायूर के पास कुरनजीयूर के एक 22 वर्षीय व्यक्ति की शनिवार सुबह मौत हो गई। युवक की मौत को लेकर मंकीपॉक्स की आशंका है, जिसको लेकर संभवत माना जा रहा की भारत में मंकीपॉक्स वायरस से पहली मौत है। 22 वर्षीय व्यक्ति मंकीपॉक्स संक्रमण के संदिग्ध मामले में अस्पताल में भर्ती था। राज्य के स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि संक्रमित व्यक्ति के लिए गए नमूनों को अलाप्पुझा में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी यूनिट में परीक्षण के लिए भेजा गया है। वह कुछ दिनों पहले संयुक्त अरब अमीरात से लौटा था और आम तौर पर उसे मंकीपॉक्स (Monkeypox Virus) से जुड़े कोई बाहरी लक्षण नहीं थे। संदिग्ध पाए जाने पर उसे 27 जुलाई को शहर के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

डॉक्टरों ने जताया था मेनिन्जाइटिस से पीड़ित होने का शक

केरल के 22 वर्षीय व्यक्ति के रिश्तेदारों ने अस्पताल के अधिकारियों को सूचित किया था कि उसे बुखार है और वह गिर गया है। शुरूआत में, डॉक्टरों को संदेह था कि वह मेनिन्जाइटिस से पीड़ित था। दरअसल इसके पीछे की वजह यह कि उसके पास परिवर्तित चेतना और बुखार जैसे लक्षण थे। अस्पताल के सूत्रों ने बताया कि चूंकि उसे तपेदिक होने का भी संदेह था, इसलिए उन्हें अस्पताल में अलग रखा गया और इसके लिए परीक्षण किए गए।

मंकीपॉक्स संदिग्ध की शनिवार सुबह मौत होने के बाद परिजनों ने बताया कि उसके संयुक्त अरब अमीरात में एक बंदर के रोगी के संपर्क में आने का संदेह है। उन्होंने यूएई से उसके दोस्तों द्वारा भेजे गए परीक्षा परिणाम का स्क्रीनशॉट भी दिखाया था। लेकिन अस्पताल के डॉक्टरों ने पाया कि स्क्रीनशॉट में मरीज का कोई नाम और विवरण नहीं था। इसलिए डॉक्टरों की ओर से कहा गया कि परीक्षण भारत में किए जाने हैं।

देश का पहला मंकीपॉक्स मरीज अब ठीक, स्वास्थ्य मंत्री ने दी जानकारी

वहीं दूसरी ओर देश में मंकीपॉक्स को लेकर राहत भरी खबर भी है। भारत में मंकीपॉक्स के पहले मरीज ने इस बीमारी को मात देने में सफलता हासिल की है। देश का पहला मंकीपॉक्स मरीज अब ठीक हो गया है, जिसकी रिपोर्ट निगेटिव आ गई है। इसके साथ ही दिल्ली में पाए गए संदिग्ध की हालत में भी सुधार बताया जा रहा है। शनिवार को उसे अस्पताल से छुट्टी भी दे दी गई। केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने बताया कि यह देश में पहला मंकीपॉक्स का मामला था, इसलिए नेशनल इस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी के मुताबिक मिले निर्देश पर 72 घंटे के अंतराल पर दो बार टेस्ट किए गए। जिसमें दोनो ही बार रिपोर्ट निगेटिव पाई गई। वहीं भर्ती दो मरीजों की हालत भी फिलहाल ठीक बताई जा रही है। दिल्ली के पहले मरीज की स्थिति में भी काफी सुधार हो रहा है। एलएनजेपी के डायरेक्टर सुरेश कुमार ने बताया कि उसे न तो फीवर है न किसी प्रकार की परेशानी है। साथ ही बताया कि उसके फोड़े भी सूख रहे हैं, लेकिन हो सकता है कि छुट्टी में समय लगे।

दुनिया के 80 देशों में मामले

गौरतलब है कि मई से दुनिया के करीब 80 देशों में मंकीपॉक्स के 22,000 से ज्यादा मामले आ चुके हैं। अफ्रीका में इस वायरस से 75 लोगों की मौत हुई है, जिनमें से ज्यादातर मौतें नाइजीरिया और कांगो में हुई। ब्राजील में भी मंकीपॉक्स से एक व्यक्ति की मौत की सूचना मिली है। स्पेन के स्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार को बताया कि देश में इस वायरस से अब तक 4,298 लोग संक्रमित हो चुके हैं, जिनमें से करीब 3,500 पुरुष ऐसे हैं, जिन्होंने अन्य पुरुषों के साथ यौन संबंध बनाए। संक्रमितों में केवल 64 महिलाएं हैं। मंत्रालय ने बताया कि मंकीपॉक्स से संक्रमित 120 लोगों को अब तक अस्पताल में भर्ती कराया जा चुका है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि यूरोपीय संघ के संयुक्त टीका कार्यक्रम के तहत देश को टीके की 5300 खुराक मिल चुकी है।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments