मंगलवार, अगस्त 16, 2022
Advertisement
होमIndia NewsMaharashtra Political Crisis : महाराष्ट्र में अब बागी विधायकों पर अयोग्य होने...

Maharashtra Political Crisis : महाराष्ट्र में अब बागी विधायकों पर अयोग्य होने का खतरा, डिप्टी स्पीकर को सौंपी सूची

मुंबई। महाराष्ट्र का सियासी ड्रामा (Maharashtra Political Crisis) फिलहाल थमता नजर नहीं आ रहा है। जहां एक तरफ बागी एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) लगातार अपना कुनबा बढ़ा रहे हैं तो दूसरी तरफ मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) के लिए सियासी संकट गहराता जा रहा है। शुक्रवार को एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) की गुवाहाटी में वकीलों के साथ बड़ी बैठक हुई। तीन घंटे तक दो वकीलों से गुप्त बातचीत की खबर सामने आ रही है। महाराष्ट्र में अब बागी विधायकों पर अयोग्य होने का खतरा मंडरा रहा है। सूत्रों के मुताबिक डिप्टी स्पीकर नरहरि जिरवाल आज शिवसेना के 16 बागी विधायकों को नोटिस भेज सकते हैं।

16 विधायकों की सूची डिप्टी स्पीकर को सौंपी

मुंबई में शिवसेना ने शिंदे सहित 16 बागी विधायकों की सूची जिरवाल को सौंपी ओर उन्हें अयोग्य ठहराए जाने की मांग की गई है। पार्टी सांसद अरविंद सावंत ने कहा कि बुधवार को हुई पार्टी विधायकों की बैठक में शामिल होने के लिए शिवसेना के व्हिप का उल्लंघन करने के लिए अयोग्यता की मांग की गई है।

इन 16 विधायकों पर कार्रवाई की मांग

शिवसेना ने भरत गोगावले, संदीपान भुमरे, अब्दुल सत्तार, संजय शिरसाट, यामिनी जाधव, अनिल बाबर, बालाजी किणीकर, तानाजी सावंत, प्रकाश सुर्वे, महेश शिंदे, लता सोनवाणे, चीमानराव पाटिल, रमेश बोरनारे, संजय रायमुलकार और विधायक बालाजी कल्याणकर पर कार्रवाई की मांग की है।

यह भी पढ़े :- महाराष्ट्र में शिंदे की सुनामी: बागी विधायकों का एकनाथ शिंदे के खेमे में शामिल होने का सिलसिला जारी

मुंबई पुलिस अलर्ट, ठाणे शहर में धारा 144 सीआरपीसी लागू

संजय राउत के बयान के बाद आज शिवसैनिक मुंबई में सड़कों पर उतर सकते हैं। इसे देखते हुए मुंबई पुलिस अलर्ट पर है। वहीं महाराष्ट्र में जारी राजनीतिक अस्थिरता को देखते हुए ठाणे जिला प्रशासन ने 30 जून तक जिले में किसी भी तरह के राजनीतिक जुलूस, सभा या नारेबाजी पर प्रतिबंध लगाने का आदेश जारी किया है। ठाणे पुलिस ने फिलहाल ठाणे शहर में धारा 144 सीआरपीसी लगा दी है।

एकनाथ शिंदे ने लिखा पत्र

शिवसेना के बागी विधायक एकनाथ शिंदे ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, महाराष्ट्र के गृह मंत्री, डीजीपी महाराष्ट्र को पत्र लिखकर 38 विधायकों के परिवार के सदस्यों की सुरक्षा वापस लेने के संबंध में कहा-सरकार उनकी और उनके परिवारों की सुरक्षा के लिए जिम्मेदार है।

यह भी पढ़े :- उद्धव सरकार पर संकट: एकनाथ शिंदे की बगावत से शिवसेना में दरार, क्या गिर जाएगी सरकार?

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments