गुरूवार, दिसम्बर 1, 2022
Advertisement
होमIndia Newsफ्लोर टेस्ट में शिंदे सरकार पास: विधानसभा स्पीकर बने नार्वेकर, इन विधायकों...

फ्लोर टेस्ट में शिंदे सरकार पास: विधानसभा स्पीकर बने नार्वेकर, इन विधायकों ने नहीं लिया वोटिंग में हिस्सा

मुंबई। उद्धव सरकार को गिराने के बाद महाराष्ट्र में नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) के नेतृत्व में भाजपा (BJP) के सहयोग से बनी सरकार के नेतृत्व में स्पीकर का चुनाव हुआ। भाजपा के राहुल नार्वेकर विधानसभा (Maharashtra Assembly) के नए स्पीकर (maharashtra Speaker Election) चुने गए हैं। नार्वेकर को 164 वोट, जबकि शिवसेना के राजन साल्वी को 107 वोट मिले। वोटिंग के दौरान NCP के 7 और कांग्रेस के 2 विधायक गायब रहे। चुनाव की प्रक्रिया पारदर्शी तरीके से हुई और दोनों उम्मीदवारों के मतों की काउंटिंग हेड काउंटिंग के साथ शुरू हुई और सबसे पहले राहुल नार्वेकर के समर्थकों ने नंबर के साथ अपना नाम बताना शुरू किया। सबसे अधिक वोट राहुल नार्वेकर को मिले।

12 विधायकों ने नहीं लिया वोटिंग में हिस्सा

स्पीकर चुनाव में नवाब मलिक (NCP), अनिल देशमुख (NCP), मुक्ता तिलक (भाजपा), लक्ष्मण जगताप (भाजपा), प्रणित शिंदे (कांग्रेस), दत्ता भरणे (NCP), निलेश लंके (NCP), अण्णा बनसोडे (NCP), दिलीप मोहिते (NCP), बबन शिंदे (NCP), मुफ्ती इस्माइल शाह (MIM) और रणजीत कांबले (कांग्रेस) ने वोटिंग में हिस्सा नहीं लिया।

भाजपा विधायकों ने लगाए जय श्रीराम के नारे

विधानसभा के भीतर भाजपा के विधायकों ने जय भवानी, जय शिवाजी और जय श्री राम के नारे लगाए, जबकि विपक्षी विधायकों ने वोटिंग के समय ED-ED के नारे लगाए। वोटिंग से पहले सदन के सभी गेटों को डिप्टी स्पीकर के आदेश पर बंद कर दिया गया। स्पीकर का चुनाव इसलिए भी अहम माना जा रहा था क्योंकि उनकी अगुवाई में ही सोमवार को फ्लोर टेस्ट होगा। आज से यहां शुरू हो रहे विधानसभा के दो दिवसीय विशेष सत्र में चार जुलाई को शक्ति परीक्षण करेगी।

शिवसेना का दफ्तर सील, दोनों गुट ने व्हिप जारी किया

शिवसेना में मचे घमासान को देखते हुए विधानसभा के भीतर उसका दफ्तर सील कर दिया गया। उद्धव ठाकरे की ओर से सुनील प्रभु और एकनाथ शिंदे की ओर से भारत गोगावाले ने व्हिप जारी किया था। उद्धव ठाकरे के समर्थन में 17 शिवसेना के विधायकों ने वोट किया है।

गिर गई थी अघाड़ी सरकार

20 जून को एकनाथ शिंदे गुट ने आदित्य ठाकरे सहित सभी विधायकों को व्हिप जारी किया। शिवसेना, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) और कांग्रेस राज्य में एमवीए गठबंधन का हिस्सा हैं। शिंदे की बगावत के कारण इन तीनों दलों की सरकार बुधवार को गिर गई थी। इसके अगले ही दिन शिंदे ने मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण किया था। भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस उपमुख्यमंत्री बने हैं। मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में शिवसेना के बागी विधायकों और निर्दलीय विधायकों का एक समूह शनिवार शाम एक विशेष विमान से गोवा से मुंबई के लिए रवाना हुआ था।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments