शनिवार, अगस्त 13, 2022
Advertisement
होमWorld Hindi Newsकाबुल के गुरुद्वारे में आतंकी हमला: बम विस्फोट के बाद कब्जा, गोलीबारी...

काबुल के गुरुद्वारे में आतंकी हमला: बम विस्फोट के बाद कब्जा, गोलीबारी में दो की मौत

काबुल। अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में सिखों के पहले गुरु गुरु नानक देव जी की भूमि पर एक आतंकवादी हमले की सूचना मिली है। हथियारबंद कुछ बंदूकधारियों द्वारा गुरुद्वारे पर ताबड़तोड़ फायरिंग में कम से कम 25 लोगों के हताहत होने की आशंका है। एक समाचार पत्र ने गुरुद्वारा अध्यक्ष गुरनाम सिंह के हवाले से यह जानकारी दी है। गुरनाम सिंह ने बताया है कि बंदूकधारियों ने अचानक गुरुद्वारे पर धावा बोला और फिर ताबड़तोड़ फायरिंग करने लगे। कुछ लोग जान बचाने के लिए इमारत की दूसरी तरफ छिपे हुए हैं। गुरुद्वारा के अंदर कम से कम 7 से 8 लोग फंस गए हैं। ताजा जानकारी के अनुसार अभी भी गुरुद्वारा के अंदर दो हमलावर मौजूद हैं। बताया जा रहा है कि गुरुद्वारा गार्ड सहित दो लोगों की मौत हो गई है।

अफगानिस्तान के गुरुद्वारा परवान के सामने सिखों के घर से मिली जानकारी के अनुसार सरदार सतबीर सिंह ने कहा कि आज सुबह करीब 7.15 बजे (भारतीय समायनुसार सुबह 8.30 बजे) हमला शुरू हुआ। यहां दो बम धमाकों की आवाज सुनी गई। धमाके के बाद आसमान में धुएं का काला बादल छा गया और चारों तरफ अफरा-तफरी मच गई।
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, गुरुद्वारा कर्ता पर्व के अध्यक्ष गुरनाम सिंह ने कहा कि हमलावरों ने कथित तौर पर गुरुद्वारे के अंदर सभी लोगों की हत्या कर दी। उनके मुताबिक, आतंकी आईएसआईएस से ताल्लुक रखते हैं। उन्होंने भारत सरकार से बिना किसी और देरी के अफगान अल्पसंख्यकों को तुरंत वापस लाने की अपील की।

गुरुद्वारे में 7-8 लोगों के फंसे होने की आशंका

जानकारी के मुताबिक, गुरुद्वारा से अभी तक 3 लोग बाहर निकल पाए हैं। उनमें से दो को अस्पताल भेजा गया है। गुरुद्वारा का गार्ड, जो कि मुस्लिम था, उसकी गोली लगने से मौत हो गई है। तीन तालिबानी सैनिक भी घायल हुए हैं। अभी भी 7-8 लोगों के अंदर फंसे होने की आशंका जताई जा रही है। माना जा रहा है कि कम से कम 2 हमलावर गुरुद्वारा परिसर के अंदर हैं और उन्हें पकड़ने की कोशिश की जा रही है। अभी भी फायरिंग जारी है।

इससे पहले भी गुरुद्वारा पर हो चुका हमला

पिछले साल अक्तूबर में तालिबान के सत्ता में आने के कुछ महीने बाद, अज्ञात बंदूकधारियों ने गुरुद्वारा करते परवन पर धावा बोल दिया था और संपत्ति में तोड़फोड़ की थी। तब से अफगान सिख भारत को बचाए जाने की अपील कर रहे हैं।

हम स्थिति की बारीकी से निगरानी कर रहे: भारतीय विदेश मंत्रालय

भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि हम काबुल में एक पवित्र गुरुद्वारे पर हमले को लेकर बहुत चिंतित हैं। हम स्थिति की बारीकी से निगरानी कर रहे हैं और आगे की घटनाओं के बारे में अधिक जानकारी की प्रतीक्षा कर रहे हैं।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments