शुक्रवार, सितम्बर 30, 2022
Advertisement
होमIndia Newsझारखंड में अंकिता की मौत के बाद तनाव : आरोपी शाहरुख को...

झारखंड में अंकिता की मौत के बाद तनाव : आरोपी शाहरुख को फांसी देने की मांग, पुलिस कस्टडी में हंसता दिखा आरोपी

रांची। झारखंड के दुमका में अंकिता को जिंदा जलाने वाले शाहरुख हुसैन की करतूतों से लोगों में आक्रोश है। करीब 5 दिनों तक जिंदगी की जंग लड़ने के बाद अंकिता ने 5 रांची के रिम्स में दम तोड़ दिया। उसने शनिवार की देर रात अंतिम सांस ली। सोमवार सुबह अंकिता का अंतिम संस्कार किया गया है। उसके दादा ने उसे मुखाग्नि दी। कड़ी सुरक्षा में अंकिता की अंतिम यात्रा निकाली गई। इससे पहले रविवार की सुबह जब उसकी मौत की खबर आई तो दुमका में तनाव की स्थिति बन गई। दुकान-बाजार बंद हो गए। गुस्साए लोग सड़कों पर उतर गए और शाहरुख के खिलाफ जल्द कड़ी से कड़ी कार्रवाई की मांग कर रहे है। वहीं जिला प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी भी की। प्रदर्शनकारियों ने दुमका-भागलपुर रोड को घंटों जाम रखा। इस विरोध प्रदर्शन में VHP, बजरंग दल, भाजपा के अलावा बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे। लोगों ने बाजार भी बंद कराया। स्थिति तनावपूर्ण देखते हुए प्रशासन ने क्षेत्र में धारा 144 लगा दी है। सोमवार सुबह भी ऐसे ही हालात रहे। आरोपी शाहरुख को फांसी देने की मांग की गई।

अफसरों की देखरेख में अंतिम संस्कार हुआ

सोमवार सुबह अंकिता की अंतिम यात्रा जरुआडीह स्थित उसके घर से निकली। आखिरी सफर में हजारों की संख्या में लोग शामिल हुए। जिले के डिप्टी डेवलपमेंट कमिश्नर कर्ण सत्यार्थी, एसडीएम महेश्वर महतो पूरे समय नजर बनाए रखे। कोई अप्रिय घटना न हो, इसके लिए सैकड़ों की संख्या में महिला और पुलिस बल तैनात किए गए हैं।

आरोपी शाहरुख ने खिड़की से पेट्रोल डालकर लगाई आग

घटना 23 अगस्त की है। अंकिता दुमका के जरुवाडीह मोहल्ले में अपने घर में सोई हुई थी। तभी लगभग 5 बजे पड़ोस के शाहरुख हुसैन ने खिड़की से पेट्रोल डालकर आग लगा दी थी। परिजन उसे दुमका के फूलो झानो मेडिकल कॉलेज अस्पताल ले गए। प्राथमिक इलाज के बाद रिम्स रेफर कर दिया था।

पुलिस कस्टडी में हंसता दिखा आरोपी

आरोपी शाहरुख पुलिस कस्टडी में हंसता हुआ नजर आ रहा है। वीडियो को देखने से ऐसा लग रहा है जैसे शाहरुख को अपने किये पर पछतावा ही नहीं है। पुलिस जब आरोपी को गिरफ्तार कर ले जा रही थी, तो वो हंसता हुआ दिखाई दिया। उसकी हावभाद से भी ऐसा नहीं लग रहा था कि उसे किसी तरह का अफसोस है। उसके हाथों में बेड़ियां लगी हैं और कुछ पुलिसवालों से वो घिरा हुआ है। वीडियो में नजर आ रहा है कि जब पुलिस उसे अपनी गाड़ी में बैठाने के लिए ले जा रही थी तब वो हंस रहा था। इसके बाद वो पुलिस की गाड़ी में बैठने के बाद भी मुस्कुरा रहा है। वो अपनी गालों और चेहरे पर हाथ फेरता हुआ नजर आ रहा है।

अंकिता को 2 साल से परेशान कर रहा था शाहरुख

आरोपी शाहरुख अंकिता को 2 साल से परेशान कर रहा था। अंकिता ने इसकी शिकायत अपने पिता से भी की थी, लेकिन समाज में बदनामी के डर से उन्होंने आगे कदम नहीं उठाया। इसके बाद जब शाहरुख ज्यादा परेशान करने लगा तो वो पुलिस में शिकायत करने पहुंचे, लेकिन शाहरुख के बड़े भाई ने मांफी मांग ली। और कहा कि वो अब ऐसा नहीं करेगा। कुछ दिन शांत रहने के बाद उसकी हरकतें फिर शुरू हो गईं। बीते 15 दिनों से वो अंकिता को कुछ ज्यादा ही परेशान कर रहा था।

अंकिता ने मरने से पहले बयां की पूरी घटना

अस्पताल में भर्ती अंकिता ने मौत से कुछ ही घंटों पहले अपने साथ हुई बर्बरता की पूरी कहानी बयां की थी। उसने बताया कि घटना 23 अगस्त की सुबह पांच बजे के आसपास की है। मैं अपने कमरे में सो रही थी, अचानक कमरे की खिड़की के पास आग की लपटें देखकर मैं डर गई। जब मैंने खिड़की खोली तब देखा कि मोहल्ले का शाहरुख हुसैन हाथ में पेट्रोल का कैन लिए मेरे घर की तरफ से भाग रहा था। तब तक आग मेरे शरीर में भी लग चुकी थी और मुझे काफी जलन सी महसूस हो रही थी।

लड़कियों को झांसा देता रहता था शाहरुख

अंकिता ने बताया, ‘मैं सिर्फ यही देख पाई कि ब्लू टीशर्ट पहने, हाथ में पेट्रोल की कैन लिए शाहरुख भाग रहा था। ये वही शाहरुख था जो पिछले 10-15 दिन से मुझे परेशान कर रहा था। मोहल्ले में उसे आवारा किस्म के लड़के के रूप में सब जानते थे। उसका काम सिर्फ लड़कियों को परेशान करना और उन्हें अपने झांसे में लेकर इधर-उधर घुमाना था।

स्कूल और ट्यूशन जाते समय करता था पीछा

अंकिता ने मौत से पहले के अपने बयान में कहा कि पिछले दस-पंद्रह दिन से वह मेरा पीछा कर रहा था। जब भी मैं स्कूल या ट्यूशन के लिए जाती, वह मेरा पीछा करता। हालांकि, मैंने कभी उसकी हरकतों को सीरियसली नहीं लिया, लेकिन उसने कहीं से मेरे मोबाइल का नम्बर जुगाड़ लिया था। उसके बाद अक्सर मुझे फोन करके मुझसे दोस्ती करने का दबाव बनाने लगा।

परिवार को मारने की दी थी धमकी

अंकिता के मुताबिक, शाहरुख ने धमकी भी दी थी कि अगर मैं उसकी बात नहीं मानूंगी तो वह मुझे और मेरे परिवार वालों को मार देगा। मुझे उसकी हरकतों का अंदेशा तो था, लेकिन यह नहीं समझ पाई कि मेरे साथ ऐसा होगा। 22 अगस्त की रात उसने मुझे धमकी दी थी कि अगर मैं उसकी बात नहीं मानूंगी तो वह मुझे मारेगा। 23 अगस्त की सुबह शाहरुख ने पेट्रोल छिड़ककर मुझे जला डाला।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments