बुधवार, अक्टूबर 5, 2022
Advertisement
होमIndia Newsइंदौर में निजी कंपनी के सात कर्मचारियों ने एकसाथ खाया जहर :...

इंदौर में निजी कंपनी के सात कर्मचारियों ने एकसाथ खाया जहर : जानिए क्या है मामला

इंदौर। मध्यप्रदेश के इंदौर में एक साथ सात लोगों के जहर खाने का मामला सामने आया है। इंदौर के परदेसी पुरा थाना क्षेत्र के पास स्थित एक निजी कंपनी अजमेरा वायर में काम करने वाले सात कर्मचारियों ने जहर खाकर आत्महत्या करने का प्रयास किया। जानकारी के अनुसार, कर्मचारियों ने गुरुवार सुबह आत्महत्या करने की नियत से एक साथ जहरीले पदार्थ का सेवन कर लिया। बताया जा रहा है कि हाल ही में सातों कर्मचारियों को मालिक ने कंपनी से अचानक बहार निकाल दिया, जिससे कर्मचारियों ने डिप्रेशन में आकर ये कदम उठाया। फिलहाल सभी कर्मचारियों को इंदौर के एमवाय अस्पताल में भर्ती किया गया है, जहां इलाज जारी है। आत्महत्या करने वालों में जमनाधर विश्वकर्मा, दीपक सिंह, राजेश मेमियोरिया, देवीलाल करेडिया, रवि करेड़िया, जितेंद्र धमनिया, शेखर वर्मा शामिल हैं। घटना के बाद से कंपनी मालिक रवि बाफना और पुनीत अजमेरा लापता हैं। फिलहाल परदेशी पुरा पुलिस मामले की जांच में जुटी है। पुलिस के अनुसार, सभी की हालत नाजुक बनी हुई है। वहीं, मरीजों के परिजनों का कहना है कि कंपनी मालिक ने नई कंपनी खोली है और निकाले गए कर्मचारियों को उस नई कंपनी में काम देने की बात कही थी, लेकिन ऐसा नहीं किया गया। दबाव में इन्होंने यह कदम उठाया।

थाना प्रभारी पंकज द्विवेदी के मुताबिक, क्षेत्र में ही मौजूद फेब्रिकेशन और माड्यूलर किचन बनाने की एक कंपनी है। पिछले 8 महीनों से कंपनी अच्छे से नहीं चलने के कारण काम बंद था। मालिक ने कर्मचारियों को सात महीने का वेतन भी नहीं दिया था, और सातों कर्मचारियों कर्मचारियों का तबादला प्रबंधक ने मजदूरों की सहमति से सांवरे रोड पर स्थित एक अन्य कंपनी में कर दिया था। जिन मजदूरों का तबादला सांवेर रोड स्थित कंपनी में किया गया था, वे लोग कंपनी में पहुंचे और हंगामा करने लगे। इस दौरान कर्मचारी जमुनाधर विश्वकर्मा, राजेश देवीलाल, जितेन, शेखर सहित अन्य मजदूरों ने जमकर हंगामा करते हुए कंपनी में मौजूद लोगों को यह जानकारी दी कि हम लोगों ने जहर खा लिया है। इसके बाद जैसे ही कंपनी में तैनात कर्मचारियों को यह पता चला तो उन्होंने परदेशीपुरा पुलिस को खबर दी। सभी सात कर्मचारियों को गंभीर हालत में इलाज के लिए एमवाय हॉस्पिटल में भर्ती किया गया है। जहां उनकी हालत स्थिर बनी हुई है।

कंपनी संचालक से भी पूछताछ जारी

फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी हुई है। थाना प्रभारी पंकज द्विवेदी का कहना है कि कर्मचारियों का ट्रांसफर कंपनी ने दूसरी जगह कर दिया और उसी के चलते उन्होंने कंपनी के संचालकों को धमकाने के लिए इस तरह का कदम उठाया है। पुलिस ने तफ्तीश की तो मौके पर किसी तरह की कोई सामग्री नहीं मिली है। जिन लोगों ने जहर खाया उनके आधार पर ही जांच चल रही है। वहीं कंपनी के संचालक रवि से भी पूछताछ की जा रही है।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments