शुक्रवार, दिसम्बर 2, 2022
Advertisement
होमRajasthan Newsउदयपुर की तरह अलवर में माहौल बिगाड़ने की कोशिश: काटना चाहते थे...

उदयपुर की तरह अलवर में माहौल बिगाड़ने की कोशिश: काटना चाहते थे गर्दन, पूर्व ग्रंथी सिख के केश काटे

अलवर। राजस्थान के उदयपुर की घटना अभी शांत भी नहीं हुई, उससे पहले अलवर के मेवात क्षेत्र के रामगढ़ में समुदाय विशेष के लोगों द्वारा दहशत फैलाने का मामला सामने आया है। अलवर के रामगढ़ क्षेत्र में गुरुवार रात को 4-5 मुस्लिम युवकों ने इलाके में स्थित एक गुरुद्वारे के पूर्व ग्रंथी गुरबख्श सिंह को कथित तौर पर परेशान किया और मारपीट की। बदमाशों ने कथित तौर पर पीड़ित को पीटा, उसकी पिटाई की। उसकी आंखों में लाल मिर्च पाउडर फेंका और उसके बाल काट दिए। इतना ही नहीं बदमाशों ने सिख समाज के पूर्व ग्रंथी के केश काट दिए। हमलावर उनकी गर्दन काटने की फिराक में थे, लेकिन वो सिख समाज से थे। ऐसे में बदमाशों ने मौके पर ही अपने साथियों को फोन किया और पूरी जानकारी दी। जिसके बाद केवल केश काटने के आदेश मिले। हालांकि, बदमाशों ने उनके साथ में मारपीट की।

क्या है पूरा मामला

अलवर जिले के रामगढ़ थाना इलाके के अलावड़ा गांव में कुछ युवकों ने सिख समाज के पूर्व ग्रंथी गुरुबख्श सिंह को हाथ देकर रोका। गुरुबख्श सिंह मिलकपुर गांव से दवाई लेकर आ रहे थे। बदमाशों ने कहा कि उनके गांव का युवक एक लड़की को भगा ले गया है, वो रास्ते में पड़ा हुआ है। उसको उठाकर ले जाओ। जैसे ही गुरुबख्श उनके साथ जाने लगे, कुछ और युवक आ गए और उन्होंने गुरुबख्श को पकड़ लिया।

बदमाशों ने पूर्व ग्रंथी गुरुबख्श सिंह से की मारपीट

जैसे ही समुदाय विशेष के लोगों को पता चला कि ग्रंथी सिख समाज का पुजारी है, उन्होंने अपने आकाओं को फोन किया। इस पर बदमाशों के आकाओं ने केश काटने के आदेश दिए, जिसके बाद गुरुद्वारा के पुजारी होने के कारण गर्दन नहीं काटी व केश काट दिए। साथ ही मारपीट की गई। घटना के बाद आरोपी मौके से फरार हो गए। शोर मचाने पर स्थानीय लोग मौके पर पहुंचे व गुरुबख्श को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया। पुलिस ने पूरे मामले की जांच शुरू कर दी है।

पुलिस अधीक्षक तेजस्वीनी गौतम पूरे मामले की जांच के लिए अस्पताल पहुंचे और घटनास्थल का दौरा किया। अलवर एसपी तेजस्विनी गौतम ने बताया कि रामगढ़ थाना क्षेत्र के अलावड़ा गांव के पास की घटना है। आरोपियों के खिलाफ रामगढ़ थाने में मामला दर्ज कर लिया गया है। घटना के बाद से सिख समाज में रोष व्याप्त है। बड़ी संख्या में लोग अस्पताल पर जमा हो गए और प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन किया। साथ ही घटना के बाद क्षेत्र में तनाव का माहौल है। भारी पुलिस बल क्षेत्र में तैनात कर दिया गया है।

पुलिस का कहना है कि जल्द ही आरोपियों की पहचान कर ली जाएगी। गुरुबख्श ने बताया कि हमलावर गर्दन काटने आए थे, लेकिन जैसे ही उनको पता चला कि वो सिख समाज से हैं, तो उन्हें गर्दन काटने की जगह उनके आकाओं ने केवल केश काटने के आदेश दिए। जिसके बाद हमलावरों ने उनके केश काट दिए। उन्होंने बताया कि इस घटना को अंजाम फोन पर साथियों से बातचीत करने के बाद अंजाम दिया।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments