गुरूवार, दिसम्बर 1, 2022
Advertisement
होमWorld Hindi Newsयूरोप में मंकीपॉक्स से पहली मौत: स्पेन का रहने वाला था मृतक,...

यूरोप में मंकीपॉक्स से पहली मौत: स्पेन का रहने वाला था मृतक, दुनिया में अब तक 7 लोगों की जान गई

नई दिल्ली। कोरोना वायरस अभी पूरी तरह खत्म नहीं हुआ कि दुनिया में नए वायरस मंकीपॉक्स ने चिंताएं बढ़ा दी हैं। इस बीमारी के सबसे ज्यादा 70% मामले यूरोप में सामने आए हैं। मंकीपॉक्स से लोगों की जान तक जा रही है। यूरोप के स्पेन में मंकीपॉक्स से एक व्यक्ति की मौत हो गई है। ये यूरोप की पहली मौत मानी जा रही है। दुनिया में अब तक मंकीपॉक्स से 7 लोगों की मौत हो चुकी है। 5 लोग अफ्रीकी देशों से थे। यहां मंकीपॉक्स को महामारी (epidemic) माना जाता है। एक मौत 29 जुलाई को साउथ अमेरिकी देश ब्राजील में दर्ज की गई। वहीं, एक अन्य मौत आज (30 जुलाई) को स्पेन में दर्ज की गई। स्पेन के हेल्थ डिपार्टमेंट के मुताबिक, देश में करीब 4,298 लोग मंकीपॉक्स की चपेट में आए हैं। इनमें से 120 लोगों को अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

दुनिया में मंकीपॉक्स के 22 हजार से ज्यादा मामले

दुनियाभर के 88 देशों में मंकीपॉक्स के 22,717 मरीजों की पुष्टि हो चुकी है। monkeypoxmeter.com के डेटा के मुताबिक, इनमें से यूरोप में सबसे ज्यादा करीब 14 हजार लोग मंकीपॉक्स की चपेट में आए हैं।

WHO ने हेल्थ इमरजेंसी घोषित की

WHO ने मंकीपॉक्स को लेकर पूरी दुनिया में हेल्थ इमरजेंसी घोषित की है। WHO ने कहा कि ये बीमारी मरीज से स्किन टु स्किन कॉन्टैक्ट करने से या फिर उसे खाना खिलाने से भी फैलती है। इसके अलावा संक्रमित व्यक्ति के कपड़े, बर्तन और बिस्तर छूने से भी मंकीपॉक्स फैल सकता है।

मंकीपॉक्स के लक्षण पहले से अलग

मंकीपॉक्स अफ्रीकी देशों में कॉमन बीमारी है। WHO की मानें तो इस बार हुए आउटब्रेक में मंकीपॉक्स के लक्षण पहले से काफी अलग हैं। फिलहाल 80% से ज्यादा मामलों में पूरे शरीर में दाने उभर रहे हैं। वहीं, 50% लोगों को बुखार ओर 40% लोगों के प्राइवेट पार्ट्स में मवाद से भरे दाने उठ रहे हैं।

अब पहले जैसी नहीं रही बीमारी

लैंसेट जर्नल में प्रकाशित एक स्टडी में वैज्ञानिकों ने लंदन में रहने वाले मंकीपॉक्स के 54 मरीजों की जांच की। ये सभी वे पुरुष हैं जो पुरुषों के साथ यौन संबंध बनाते हैं। इनमें से केवल 2 मरीजों को अंदाजा नहीं था कि वे किसी संक्रमित के संपर्क में आए हैं।

एक चौथाई HIV पॉजिटिव हुए संक्रमित मरीज

मरीजों में से एक चौथाई HIV पॉजिटिव और एक चौथाई किसी यौन रोग से संक्रमित थे। सभी मरीजों में मुख्य लक्षण मवाद से भरे दाने थे। 94% लोगों में यह दाने प्राइवेट पार्ट्स में थे। यानी, वायरस सेक्स के दौरान स्किन टू स्किन कॉन्टैक्ट से संक्रमण फैल रहा है। रिसर्चर्स के मुताबिक, इससे पहले अफ्रीका में हुए आउटब्रेक्स में यह दाने हमेशा हाथ पर होते थे, जिसका मतलब था कि मरीज ने संक्रमित व्यक्ति को छुआ है।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments