गुरूवार, दिसम्बर 1, 2022
Advertisement
होमIndia Newsअब होटल और रेस्त्रां नहीं वसूल सकेंगे सर्विस चार्ज, CCPA ने जारी...

अब होटल और रेस्त्रां नहीं वसूल सकेंगे सर्विस चार्ज, CCPA ने जारी की गाइडलाइन, ऐसे करें शिकायत

नई दिल्ली। अगर आप होटल (Hotel) या रेस्तरां (Restaurants) में खाना खाने जाते हैं। यहां जाकर आप जो खाना ऑर्डर (Food Ofder) करते हैं उसके बाद आप उसका बिल देते है। आपने देखा होगा की होटल और रेस्तरां अपने ग्राहकों को बिल में मनमुताबिक सर्विस चार्ज लगाकर देते हैं, जिसे ग्राहकों से वसूला जाता है जो कि पूरी तरह गलत है। आपको बताते हैं कि इसको लेकर अब क्या नया नियम लागू हो गया है। सर्विस चार्ज को लेकर सेंट्रल कंज्यूमर प्रोटेक्शन अथॉरिटी यानी सीसीपीए ने सर्विस चार्ज को लेकर नए नियम (Service Charge Guidelines) बना दिए हैं। सीसीपीए (CCAP) के मुताबिक कोई भी रेस्टोरेंट अपने क्लाइंट को सेवा देने के लिए सर्विस चार्ज नहीं वसूल सकते हैं। सेंट्रल कंज्यूमर प्रोटेक्शन अथॉरिटी यानी सीसीपीए ने होटल और रेस्तरां के बिल में लगने वाले सर्विस चार्ज को लेकर नई गाइडलाइंस जारी की है।

इस नई गाइडलाइंस पर बोलते हुए कंज्यूमर अफेयर्स मिनिस्टर पीयूष गोयल ने कहा कि रेस्तरां किसी भी तरह के बिल में ग्राहक की इच्छा के बिना सर्विस चार्ज नहीं लगा सकता है। ये पूरी तरह से वैकल्पिक है यानी अगर ग्राहक की इच्छा होगी तो वो सर्विस चार्ज दे अन्यथा न दे। नियम के अनुसार सर्विस चार्ज देना या ना देना ग्राहक पर निर्भर है, रेस्टोरेंट इसके लिए जबरदस्ती नहीं कर सकते हैं। अगर कोई रेस्टोरेंट सर्विस चार्ज लगाता है तो ग्राहक उस रेस्टोरेंट के खिलाफ उपभोक्ता आयोग में ई-दाखिल शिकायत कर सकता है। आइए जानते हैं कैसे करें ई-दाखिल (How to complain against service charge) शिकायत।

ई-दाखिल प्लेटफॉर्म पर करें रजिस्टर

अगर किसी ग्राहक को सर्विस चार्ज या किसी और तरह की कोई शिकायत दर्ज करानी है तो पहले उसे ई-दाखिल प्लेटफॉर्म पर खुद को रजिस्टर करना होगा। इसके लिए सबसे पहले edaakhil.nic.in पर जाना होगा। वहां पर खुद को रजिस्टर करने के लिए आपके पास एक वैध ईमेल आईडी और मोबाइल फोन होना चाहिए। साथ ही आपको अपनी पहचान बताने वाले किसी दस्तावेज की सॉफ्ट कॉपी अपलोड करनी होगी। सॉफ्ट कॉपी में वोटर आईडी, पैन कार्ड, पासपोर्ट, राशन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस आदि हो सकते हैं। ध्यान रहे, इन दस्तावेजों को सिर्फ पीडीएफ फॉर्मेट में ही अपलोड करना है। इसके बाद आपको एक अकाउंट एक्टिवेशन लिंक मिलेगा। मोबाइल पर एक ओटीपीए भी आएगा।

केस फाइल करने के लिए सबसे पहले file a new complaint टैब पर क्लिक करें। इसके बाद क्लेम का अमाउंट डालें। अपना राज्य और जिला चुनकर आगे बढ़ें।
अगले पेज पर आपसे शिकायत से जुड़ी कुछ जानकारियां मांगी जाएंगी, वह सब भरें।
अगर एक से अधिक शिकायत हैं तो एडिशनल कंप्लेन्ट्स टैब के जरिए आप अधिक शिकायत दर्ज करा सकते हैं।
शिकायत दर्ज करते वक्त आपको वह उपभोक्ता आयोग भी चुनना होगा, जहां आपको अपनी शिकायत दर्ज करानी है।
सब हो जाने के बाद आप ओटीपी के जरिए सबमिशन की हामी भरेंगे और आपको पास शिकायत की एक कॉपी पहुंच जाएगी।
ये सब हो जाने पर आप सीधे पेमेंट पेज पर रीडायरेक्ट हो जाएंगे।

ऐसे करें ई-दाखिल पर भुगतान

अपने केस के लिए आप ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीकों से भुगतान कर सकते हैं। आप pending payments सेक्शन के तहत अपना केस चुनकर proceed to pay पर क्लिक कर सकते हैं। अगर आप ऑफलाइन भुगतान करना चाहते हैं तो बैंक डिमांड ड्राफ्ट या इंडियन पोस्टल ऑर्डर या फिर चालान से ऐसा कर सकते हैं। ऑनलाइन भुगतान डेबिट और क्रेडिट कार्ड, इंटरनेट बैंकिंग, आईएमपीए, यूपीआई और आधार आधारित भुगतान के जरिए कर सकते हैं।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments