शुक्रवार, दिसम्बर 9, 2022
Advertisement
होमIndia Newsओडिशा में बदलेगा पूरा मंत्रिमंडल! नवीन पटनायक ने सभी कैबिनेट मंत्रियों का...

ओडिशा में बदलेगा पूरा मंत्रिमंडल! नवीन पटनायक ने सभी कैबिनेट मंत्रियों का मांगा इस्तीफा

भुवनेश्वर। ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने शुक्रवार को बड़ा फैसला लेते हुए सरकार के सभी कैबिनेट मंत्रियों से इस्तीफा मांगा है। बताया जा रहा है कि ओडिशा सरकार सारे मंत्रियों को हटाकर नए मंत्रियों को प्रभार देगी। फिलहाल नए मंत्रियों के नाम गुप्त रखे गए हैं। सभी रविवार को ओडिशा के राजभवन में मंत्री पद की शपथ लेंगे। बता दे कि ओडिशा में 2019 में विधानसभा चुनाव हुए थे। राज्य की कुल 146 विधानसभा सीटों में से नवीन पटनायक की पार्टी ने 112 सीटों पर जीत दर्ज करते हुए बंपर बहुमत पाया था। इसके अलावा बीजेपी 23, कांग्रेस 9 और लेफ्ट एक सीट जीती थी। वहीं एक सीट निर्दलीय उम्मीदवार के खाते में गई थी। ओडिशा में सरकार बनाने के लिए बहुमत का जरूरी आंकड़ा 74 है। इस लिहाज से नवीन पटनायक को प्रचंड बहुमत मिला था।

उपचुनाव भी जीती बीजेडी

इसी हफ्ते ओडिशा की एक सीट पर हुए उपचुनाव में भी बीजेडी को ही जीत मिली थी। दिसंबर 2021 में बीजेडी विधायक किशोर मोहंती का निधन हो जाने के बाद इस सीट पर उपचुनाव कराने की जरूरत पड़ी थी। पार्टी ने उपचुनाव में किशोर मोहंती की पत्नी को उतारा था।

सीएम की लिस्ट में तीसरे नंबर पर नवीन पटनायक

नवीन पटनायक के नाम पर सबसे लंबे वक्त तक मुख्यमंत्री रहने वालों की लिस्ट में तीसरे नंबर पर होने का रिकॉर्ड है। 2000 में पहली बार नवीन के नेतृत्व में बीजू जनता दल की सरकार बनी थी। तभी से चुनाव दर चुनाव पटनायक ने मिसाल कायम की। 2014 और 2019 की प्रचंड मोदी लहर में भी ओडिशा में नवीन पटनायक ने भारी बहुमत से सत्ता हासिल की। देश में सबसे लंबे वक्त तक सीएम रहने का रिकॉर्ड सिक्किम के पवन कुमार चामलिंग (24 वर्ष) के नाम पर है। वहीं दूसरे नंबर पर पश्चिम बंगाल के ज्योति बसु हैं, जिन्होंने 1977 से 2010 तक यानी 23 सालों तक बंगाल की सत्ता संभाली। इस लिस्ट में नवीन पटनायक तीसरे नंबर पर हैं। बतौर सीएम अब तक उन्होंने 22 साल का कार्यकाल पूरा कर लिया है।

सिर चढ़कर बोल रहा नवीन पटनायक का जादू

नवीन पटनायक ने 1997 से 2022 तक जन सेवा में 25 साल का समय ना सिर्फ सफलता के साथ पूरा किया है बल्कि विरोधी पार्टियों के लिए अप्रतिद्वंदी बन गए हैं। पंचायत चुनाव हो या फिर नगर निगम व निकाय चुनाव, विधानसभा का चुनाव हो या लोकसभा व राज्यसभा का चुनाव नवीन पटनायक हर चुनाव में नवीन पटनायक का जादू लोगों के सिर चढ़कर बोल रहा है। पिछले 2019 के आम चुनाव में ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की लहर पूरे देश में देखी गई, मगर ओडिशा में नवीन पटनायक के सामने कोई भी लहर काम नहीं आई। 25 साल पहले नवीन पटनायक पहली बार सांसद चुने गए थे।

यह भी पढ़े :- Kanpur Violence : कानपुर हिंसा का मास्टरमाइंड जफर हयात हाशमी के गिरफ्तार होने का दावा, बहन और पत्नी ने लगाया ये आरोप

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments