सोमवार, अक्टूबर 3, 2022
Advertisement
होमWorld Hindi Newsसोमालिया में मुंबई जैसा हमला : आतंकियों ने हयात होटल में घुसकर...

सोमालिया में मुंबई जैसा हमला : आतंकियों ने हयात होटल में घुसकर फायरिंग की, आठ लोगों की मौत, कई घायल

मोगादिशु। सोमालिया की राजधानी मोगादिशु (Mogadishu In Somalia) में शुक्रवार की देर रात मुंबई जैसे हमले को अंजाम दिया। आतंकी समूह अल-शबाब (Al Shabaab Terrorist Attack) के बंदूकधारियों ने होटल हयात में घुसकर पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाई। जिसमें 8 लोगों की मौत हो गई है। 9 घायल हो गए। खबर है कि पहले हयात होटल के बाहर खड़ी 2 कारों में ब्लास्ट हुए। इसके बाद आतंकी होटल में घुसे और लोगों के बीच फायरिंग शुरू कर दी। बताया जा रहा है कि आतंकवादियों ने होटल हयात पर कब्जा कर लिया है। न्यूज एजेंसी AFP के मुताबिक, होटल में सिक्योरिटी फोर्स और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी है। हमले में मोगादिशु के खुफिया प्रमुख मुहीदीन मोहम्मद घायल हुए हैं। फिलहाल 8 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। इस्लामी आतंकवादी समूह अल-शबाब ने हमले की जिम्मेदारी ली है।

खुफिया प्रमुख समेत दो सुरक्षा अधिकारी घायल

एक मीडिया ब्रीफिंग में, सोमाली पुलिस के प्रवक्ता अब्दीफतह अदन हसन ने कहा कि एक आत्मघाती हमलावर शुरू में होटल में घुसा और फायरिंग शुरू कर दी, जिसके परिणामस्वरूप सुरक्षा बलों और जिहादी समूह के बंदूकधारियों के बीच भीषण गोलीबारी हुई। इस घटना में आठ लोगों की मौत हो गई। उन्होंने पुष्टि की कि कुछ बंदूकधारी अभी भी होटल में हैं। इसके अलावा, उन्होंने सुनिश्चित किया कि सुरक्षा अधिकारी स्थिति से निपट रहे थे और कहा कि आतंकवादियों को जल्द ही समाप्त कर दिया जाएगा।

मुंबई जैसा हमला क्यों कह रहे

सोमालिया सरकार के खिलाफ लंबे समय से जंग लड़ रहे इस आतंकी संगठन का ये कोई पहला हमला नहीं है। 26 नवंबर 2008 में भारत के मुंबई में भी ऐसा ही हमला हुआ था। आतंकियों ने ताज होटल में घुसकर फायरिंग और ब्लास्ट किए थे। इस हमले में 9 हमलावरों समेत करीब 180 लोगों की मौत हो गई थी। यहां 10 आतंकी बैग में 10 एके-47, 10 पिस्टल, 80 ग्रेनेड, 2 हजार गोलियां, 24 मैगजीन, 10 मोबाइल फोन, विस्फोटक और टाइमर्स लेकर घुसे थे।

जानिए क्या है अल-शबाब

अल-शबाब एक आतंकी संगठन है।
आतंकी संगठन अल-शबाब की स्थापना 2006 में हुई थी। ये सऊदी अरब के वहाबी इस्लाम को मानता है।
अल-शबाब का मकसद 2017 में बनी सोमालिया सरकार को जड़ से उखाड़ना है।
मोगादिशू शहर यूनियन ऑफ इस्लामिक कोर्ट्स के कब्जे में था, जो कि शरिया अदालतों का एक संगठन था। इसका मुखिया शरीफ शेख अहमद था। 2006 में इथियोपिया की सेना ने इस संगठन को हरा दिया और अल-शबाब का जन्म हुआ। अल-शबाब यूनियन ऑफ इस्लामिक कोर्ट्स की ही एक कट्टरपंथी शाखा है।

अल-शबाब के बड़े हमले

2017 में मोगादिशू शहर में ब्लास्ट हुआ था। इस हमले में 275 लोगों की मौत हो गई थी।
2016 में अल-शबाब संगठन ने केन्या के सैन्य शिविर पर हमला किया था। इसमें 180 सैनिकों की मौत हो गई थी।
2015 में केन्या की यूनिवर्सिटी पर आतंकी हमला हुआ था। इस दौरान 148 छात्र मारे गए थे।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments