मंगलवार, अगस्त 16, 2022
Advertisement
होमIndia Newsउदयपुर हत्याकांड से पर्यटन को लगी 'बुरी नजर', लोगों ने धड़ाधड़ कैंसिल...

उदयपुर हत्याकांड से पर्यटन को लगी ‘बुरी नजर’, लोगों ने धड़ाधड़ कैंसिल कराई बुकिंग

जयपुर। उदयपुर (Udaipur) में पर्यटन उद्योग से जुड़े लोगों का दावा है कि टेलर कन्हैयालाल की निर्मम हत्या (Kanhaiyalal Murder Case) के कारण पर्यटन उद्योग (Tourism Industry) को झटका लगा है। घटना के कारण उदयपुर आने वाले पर्यटकों ने अगले दो महीनों के लिये होटलों में आधे से अधिक बुकिंग रद्द कर दी है। शहर में ज्यादातर लोगों के लिये पर्यटन आजीविका का मुख्य स्त्रोत है और इससे जुड़े हितधारकों को डर है कि इस घटना से बड़े पैमाने पर शहर की छवि को झटका लगा है और सितंबर से शुरू होने वाले पर्यटन सीजन पर नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।

उदयपुर के होटल एसोशिएशन के वरिष्ठ उपाध्यक्ष और कारोही हवेली होटल के मालिक सुदर्शन देव सिंह ने बताया, ‘उदयपुर हत्याकांड के बाद लोगों ने अग्रिम बुकिंग रद्द करना शुरू कर दिया। जुलाई और अगस्त माह में मानसून के मौसम के दौरान सप्ताह अंत के लिये मेरे पास अच्छी संख्या में पर्यटक आने वाले थे लेकिन घटना के बाद अगले दो महीनों के लिये पचास प्रतिशत से अधिक बुकिंग पिछले पांच-छह दिनों के दौरान रद्द कर दी गई।’

उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के कारण पर्यटन उद्योग पहले से प्रभावित था और इस साल अच्छे कारोबार की उम्मीद थी लेकिन इस घटना ने उदयपुर की छवि को बुरी तरह प्रभावित किया है। जयपुर में राजस्थान एसोसिएशन ऑफ टूर ऑपरेटर्स के सचिव संजय कौशक ने कहा, ‘उदयपुर एक बहुत ही शांतिपूर्ण शहर रहा है और ऐसा कोई घृणित अपराध आज तक नहीं हुआ। यह न केवल उदयपुर बल्कि पूरे राजस्थान जहां पर्यटन एक प्रमुख उद्योग है, के लिये एक झटका है।’

उन्होंने कहा, ‘उदयपुर आने वाले कई पर्यटकों ने घटना को देखते हुए अपनी अग्रिम बुकिंग को रद्द कर दिया है। उदयपुर आकर्षक स्थानों के अलावा शांतिपूर्ण वातावरण के कारण पर्यटकों का आकर्षण का केंद्र था लेकिन इस घटना से नकारात्मक प्रभाव पड़ा है।’ हरे-भरे स्थानों और पहाड़ियों से घिरा उदयपुर झीलों की नगरी के नाम से एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है जो अपने शांत वातावरण, सुरम्य स्थानों और झीलों के लिये जाना जाता है। इसे देश के पर्यटन मानचित्र पर एक विशेष स्थान प्राप्त है। यह हस्तशिल्प का भी केंद्र है।

उदयपुर आने वाले अधिकांश पर्यटक जगदीश चौक, हाथी पोल क्षेत्र ओर मालदास गली का दौरा करते है। मालदास गली के पास एक दुकान में मंगलवार को एक दर्जी कन्हैयालाल की हत्या हुई थी। अधिकांश हस्तशिल्प, वस्त्र, और आभूषणों की दुकानें इसी क्षेत्र में स्थित हैं। हाथीपोल के हस्तशिल्प व्यापारी देवेन्द्र जावलिया ने कहा, ‘उदयपुर की छवि बुरी तरह से खराब हुई है और मुझे अपने दोस्तों और देश के विभिन्न हिस्सों से लोगो के साथ-साथ ग्राहकों के फोन आ रहे है और वे इस घटना पर आश्चर्य जता रहे हैं। यह धारणा निश्चित रूप से हम सभी के लिये चिंता का कारण है।’

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments