सोमवार, अक्टूबर 3, 2022
Advertisement
होमIndia Newsअडानी के पास कहां से आ गई इतनी दौलत! मोदी सरकार से...

अडानी के पास कहां से आ गई इतनी दौलत! मोदी सरकार से पहले इतनी थी संपत्ति

नई दिल्ली। भारतीय उद्योगपति गौतम अदाणी (Gautam Adani) ने अपना नया रिकॉर्ड रच दिया है। गौतम अदाणी दुनिया के तीसरे नंबर के रईस बन गए हैं। उन्होंने फ्रांस के लुई वुइटन (Louis Vuitton) के प्रमुख बर्नार्ड अरनॉल्ट को पीछे छोड़ दिया है। यह पहली बार है जब कोई एशियाई ब्लूमबर्ग बिलियनेयर्स इंडेक्स के टॉप थ्री में शामिल हुआ है। अब गौतम अदाणी (Gautam Adani) रैंकिंग में केवल मस्क और बेजोस से पीछे हैं। टेस्ला के फाउंडर एलन मस्क 251 बिलियन डॉलर की नेटवर्थ के साथ लिस्ट में पहले नंबर पर है, बेजोस 153 अरब डॉलर के साथ दूसरे स्थान पर है। अडाणी टॉप-10 लिस्ट में शामिल एकमात्र भारतीय हैं। 91.9 अरब डॉलर (7.3 लाख करोड़ रुपए) की नेटवर्थ के साथ रिलायंस के चेयरमैन मुकेश अंबानी 11वें नंबर पर हैं। ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स के मुताबिक इस साल अब तक गौतम अडानी की संपत्ति में 60.9 अरब डॉलर का इजाफा हुआ है।

मोदी सरकार से पहले केवल 5.10 अरब डॉलर थी संपत्ति

ब्लूमबर्ग के मुताबिक, 30 मार्च 2014 को गौतम अडानी के पास केवल 5.10 अरब डॉलर की संपत्ति थी। 16 जनवरी 2020 को 11 अरब डॉलर पर पहुंचने वाले अडानी की संपत्ति में उछाल जून 2020 से आने लगा। 9 जून 2021 तक आते-आते उनकी संपत्ति करीब-करीब 7 गुना उछल कर 76.7 अरब डॉलर पर पहुंच गई। इसके बाद तो उनकी दौलत को पंख लग गए। 29 अप्रैल 2022 को उन्होंने 122 अरब डॉलर का मुकाम हासिल कर लिया और अब वह 137 अरब डॉलर पर हैं।

आखिर अडानी के पास अचानक से क्हां से आई इतनी संपत्ति

अब सवाल उठता है कि अडानी के पास अचानक से इतनी संपत्ति कहां से आ गई तो इसका एक ही जवाब है शेयर बाजार में तेजी आना। गौतम अडानी ने 1988 से अपना बिजनेस शुरू किया था, अभी उनकी 7 कंपनियां शेयर बाजार में लिस्टेड हैं। अडानी प्राइवेट सेक्टर में देश का सबसे बड़ा पोर्ट चलाते हैं। उन्होंने 6 एयरपोर्ट सरकार से खरीदें हैं। मुंबई एयरपोर्ट अब उनका है। प्राइवेट सेक्टर में सबसे ज़्यादा बिजली उत्पादन करते हैं। वहीं, बिजली में लगने वाला कोयले का सबसे ज़्यादा खनन करते हैं। देश में सबसे ज़्यादा सीमेंट बनाते हैं। फार्च्यून ब्रांड से तेल, आटा, चावल, बेसन जैसी चीजें भी बेचते हैं। उनकी कंपनियों के शेयरों की क़ीमत राकेट की तरह भाग रही है। इनका मार्केट कैप 19 लाख करोड़ रुपये से ज़्यादा है। इन्हीं कंपनियों में शेयर होने के चलते अडानी की संपत्ति बढ़ी है।

अडानी ग्रुप की कंपनियों में आया उछाल

अडानी ग्रुप की कंपनियों के इस साल के परफार्मेंस की बात करें तो अडानी पावर 292 फीसद उछला है। अडानी इंटरप्राइजेज की इस साल अबतक की उछाल 294 फीसद है। अडानी पोर्ट्स 108 तो अडानी ग्रीन करीब 80 फीसद का रिटर्न दिया है। जबकि, अडानी विल्मर की उछाल इस अवधि में 158 फीसद से अधिक रही। अडानी टोटल गैस ने भी इस दौरान 109 फीसद तो अडानी ट्रांसमिशन ने 127 फीसद की उड़ान भरी।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments